#PoshanMaah2020: Good Nutrition Practices

Last Date Sep 30,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
Submission Closed.

On the occasion of celebrating the POSHAN Abhiyan month in September, 2020, in collaboration with the Ministry of Women and Child Development, MyGov invites citizens to share good ...

On the occasion of celebrating the POSHAN Abhiyan month in September, 2020, in collaboration with the Ministry of Women and Child Development, MyGov invites citizens to share good nutrition practices and contribute towards a healthier India.

Share your ideas on what's a healthy & nutritious diet, along with good nutrition practices, with the world.

See Details Hide Details
All Comments
Reset
Showing 2579 Submission(s)
648340
narendra nema 2 weeks 6 days ago

ज्वार बाजरा तिली सरसों कोदों अलसी मूंग उड़द मुंगफली इसके अलावा शुद्ध देसी सब्जियों और फलों का नियमित सेवन करने और प्रतिदिन दूध और दूध से बने पदार्थ का सेवन अपने आप में महत्वपूर्ण पोषक आहार है।

680
Pritee Wanjari 2 weeks 6 days ago

हमें पूर्ण पोषण प्राप्त हो इसलिए भोजन बनाते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।हरी सब्जियों को हमेशा पहले धोकर फिर काटना चाहिए क्योंकि यदि आप सब्जियां काट कर फिर धोते हो तो उनमें मौजूद विटामिन बी और सी जो कि पानी में घुलनशील होते हैं वह निकल जाते हैं। और हमारे शरीर को फिर वह पोषक तत्व उस मात्रा में नहीं मिलते जो उस सब्जी में हम पहले धो कर फिर काटने पर हमारे शरीर को प्राप्त होंगे।
सहजन की फलिया और इसकी पत्तियों मैं प्रचुर मात्रा में मैग्नीशियम, कैल्शिऔर विटामिंस होते हैं हर सब्जी में डालना चाहिए।

2500
radhika rastogi 2 weeks 6 days ago

Being a dietitian I truly believe in the power of nutrition and here are some tips to stay healthy:-
1) Never skip breakfast. It is the important for proper functioning of the body.
2) Cut down suagr and salt intake .
3) Try to eat seasonal fruits and vegetables .
4) Eat locally avialble foods .
5) Avoid junk food
To know more about healthy diet mail me at
dt.radhikarastogi@samaahar.in

240
Aditya Ray Sharma 2 weeks 6 days ago

पोषण का अर्थ बहुत ही व्यापक है।हर उम्र के संदर्भ मे इसकी जरूरते अलग होती है।जन्म के होते ही माता के अमृत तुल्य दुध का पान करना प्रत्येक मां का अनिवार्य धर्म है।माता के
दुग्ध पान से बीमारियां दूर होंगी पर पानी इस अवधि मे न दे।छह मास बाद ठोस आहार देना शुरू करे।अन्न एवं दलहन के साथ साथ हरी शब्जी, दुध, फल, का महत्व उम्र के हर पडाब पर महत्वपूर्ण है।तरूणाअवस्था मे भी पोषण बहुत ही जरूरी है इस समय शारीरिक विकास की गति तेज होती है।प्रौढा और बृद्धा मे सही पोषण अनेक बीमारियों को दूर करता है

छह मास

1500
Gunjan Vora 2 weeks 6 days ago

A Wholesome Meal is needed for Nutrition. Indian grains, spices, vegetables and fruits have every Nutrition a body needs. Each Nutrition should be included in plate. Exercise helps to assimilate nutrition in body. An activity or Sport should also be included in lifestyle to have a POSHAN rich body

13580
JAYAMOHAN 2 weeks 6 days ago

1. Call of innovative solutions to Eradicate Mosquitos, which is one of the main reason people get affected.
2. Approve to build house only if there is little space for green and trees. Which will automatically give them fresh air to boost their immunity.
3. Old grand mother home treatments should me made reachable to all, they have been proven with results. They were able to live more than 100 years but today crossing 50 the complications starts and the life span is around 70 to 80. So we must