Inviting ideas for Mann Ki Baat by Prime Minister Narendra Modi on 26th December 2021

Inviting ideas for Mann Ki Baat by Prime Minister Narendra Modi on 26th December 2021
Start Date :
Dec 03, 2021
Last Date :
Dec 24, 2021
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
Submission Closed

PM Narendra Modi looks forward to sharing his thoughts on themes and issues that matter to you. The Prime Minister invites you to share your ideas on topics he should address on ...

PM Narendra Modi looks forward to sharing his thoughts on themes and issues that matter to you. The Prime Minister invites you to share your ideas on topics he should address on the 84th Episode of Mann Ki Baat.

Send us your suggestions on the themes or issues you want the Prime Minister to speak about in the upcoming Mann Ki Baat episode. Share your views in this Open Forum or alternatively you can also dial the toll-free number 1800-11-7800 and record your message for the Prime Minister in either Hindi or English. Some of the recorded messages may become part of the broadcast.

You can also give a missed call on 1922 and follow the link received in SMS to directly give your suggestions to the Prime Minister.

And stay tuned to Mann Ki Baat at 11:00 AM on 26th December 2021.

Reset
Showing 2784 Submission(s)
Default Profile Picture
Baas Image 1217440
KACHHAD NAVNITKUMAR BAVANJIBHAI 1 year 1 month ago

मानणिय प्रधान मंत्रीजी आपके बहुतसे निर्णय देश की प्रगती को बढावा दीया है और आज मुझे ईसी तरह के एक और बारेमे कहना चाहुअंगा कीसीभी सरकारी अन्य जगहो पर टेंडर बोली (लिलाव) तरह सेट खुले तैर पर दीया जाने पर करे जिससे आम नागरीक तक ईसकी जानकारी होनेसे भ्रष्टाचार को प्रतिबंध हो

Default Profile Picture
Baas Image 1217440
KACHHAD NAVNITKUMAR BAVANJIBHAI 1 year 1 month ago

am Akash Bahadur live in West Bengal. I am an NCC cadet, sportsman and student.
Sir, I want to do something for our country, this is my wish since childhood.
So I had a plan for the last three years.That plan is to make a Mashal rally across the country on the purpose of the 75th years complete of our country's independence from India.This Mashal belongs to all the freedom fighters of the country Sacrifice symbolizes the unity of the country, the development of the country , Symbol of maintaining peace in the country and the preservation of Indian culture.And this named mashal yatra" azadi ka Amrit Mahotsav Ka Mashal Yatra" ..This mashal yatra or rally will continue for 75 days .The Mashal rally will be held in 28th states and 8 union territories .The Mashal Yatra will travel 7.5th kilometers to each state or union territory capital.

Default Profile Picture
Baas Image 1217440
KACHHAD NAVNITKUMAR BAVANJIBHAI 1 year 1 month ago

प्रधानमंत्री जी ,देश की तीनो सीमाओं को सुदृढ बनाने के लिये साकार को आधुनिक तकनीक और सुरक्षा नीति बनाने की ओर ध्यान जाना चाहिये।देश मे जल थल वायु सीमाओं का उलंघन और आतंकियो का प्रवेश देश मे हो जाता है।इनकी निगरानी के लिये लेजर बीम,रोबोटिक सुरक्षा,ड्रोन आदि का प्रयोग कर सीमाओं को तस्करों और आतंकियो से मुक्त बनाने के लिये जरूरी है।आज शत्रु देश भारत मे अस्थिरता फैलाने के लिये मादक पदार्थो की तस्करी,हथियारों और अपने एजेंटो के द्वारा अराजकता&आतंकवाद फैलाने के लिये फंडिंग कर रहा है।इसे रोकने&कार्यवाही

Default Profile Picture
Baas Image 3180
DEEPESH DAKSHA 1 year 1 month ago

Namaste sir , main aapke kaam karne ke prati lagaaw ka samaan karta hoon , mujhe aapse kuch serious kehna hain ..related educations
.era maanna hai ki Bachpan main Hume history galat padaai gayi thi , agar Hume mughloo ke baare main acchaa bataya gaya hain toh Hume mahara pratap and chattarapati shivaji maharaj ke baare main kuch kyu nahi hain , mushkil se ek paragraph bhi nahi hain ,
I know ki syllabus se Hatana unko mushkil hoga ,lekin syllabus unki kam karke humare veero ka bhi toh itihaas phadaya jaaye , warna humare choose bhai been yahi mante reh jaayenge ki aurangzeb kitne accha tha .
Isko positive tareeke se le please .
Isliye aapse anoroodh hain ki new education policy ke tahat iss cheer ko implement kiya jaaye ..

Default Profile Picture
Baas Image 570330
kuldeep mohan trivedi 1 year 1 month ago

प्रधानमंत्री जी, देश सुर राज्यो मे प्रबलजनसुनवाई तन्त्र होना चाहिये।लोगो की समस्याओं का समाधान जिला और राज्य स्तर पर न होने पर केंद्र स्तर पर जनसुनवाई तन्त्र हो ।जिसकी जाँच भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा की जाए और उनकी जवाबदेही तय की जाए।पीएम से सीएम तक की जांच उच्चाधिकारियो द्वारा केवल फारवर्ड की जाती है &जाँच निम्नश्रेणी के कर्मियों द्वारा की जाती है।जिसके कारण लोगो की समस्याओं का निदान नही होता।लोग कार्यालयो&दलालो के चक्कर लगाते है&सरकार को कोसते है।जबकि जिम्मेदार केवल प्रशासनिक अधिकारी

Default Profile Picture
Baas Image 28760
BHARAT HINDUSTANI SRINIVASA RAO 1 year 1 month ago

Respected Modiji,
In country many organizations are operating without approval from Ayush Dept , exploiting common people in the name of Yoga, Kumbhak etc, in social media platforms. Needs immediate action .
Second people need confidence to live peacefully, happily & harmoniously in the year 2022.

Dhanyawad

Default Profile Picture
Baas Image 570330
kuldeep mohan trivedi 1 year 1 month ago

प्रधानमंत्री जी,देश मे गुप्तचर व्यवस्था में पुलिस सेवा के अधिकारियों और कर्मियों को नियुक्त किया जाता है।आज समय की मांग है।गुप्तचर सेवा को पुलिस सेवा से अलग कर दिया जाए।भारतीय &राज्य गुप्तचर सेवाएं बनाई जाए।हर जगह गुप्तचर सेवाओ का जाल फैलाया जाए।सीमा के पास के सभी राज्यो के जिलों में और जल एवं वायु सेवाओ के माध्यम से होने वाले अवैध व्यापार पर नजर रखने के लिये गुप्तचरों का जल,विकास कार्यो के नाम पर होने वाले भ्रष्टाचार पर भी गुप्तचर सेवाओ की जरूरत है।कृपया ध्यान दीजिये।

Default Profile Picture
Baas Image 570330
kuldeep mohan trivedi 1 year 1 month ago

प्रधानमंत्री जी आजाद भारत मे पुलिस जनता का दिल नही जीत पाई और न आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था कोसम्भाल पाती है।जरूरी है।पुलिस का सैन्य पैटर्न पर ट्रेनिंग और पुलिस की कार्यप्रणाली में सुधार की जरूरत है।पुलिस का व्यवहार किसी भी प्रकार जनता जे प्रति सम्मानपूर्ण नही है।लोगोके साथ अभद्र व्यवहार,भ्रष्टाचार और निम्न श्रेणी कर्मियों द्वारा गालियां ,डंडे देना और साधारण सी बात पर बर्बर कार्यवाही करके मार डालना।ये सब जुल्म बंद होना चाहिये।आजाद भारत है। पुलिस लोगो की सुरक्षा के लिये है।अपमान&जुल्म ढाने के लियेनही

Default Profile Picture
Baas Image 570330
kuldeep mohan trivedi 1 year 1 month ago

प्रधानमंत्री जी ,देश की तीनो सीमाओं को सुदृढ बनाने के लिये साकार को आधुनिक तकनीक और सुरक्षा नीति बनाने की ओर ध्यान जाना चाहिये।देश मे जल थल वायु सीमाओं का उलंघन और आतंकियो का प्रवेश देश मे हो जाता है।इनकी निगरानी के लिये लेजर बीम,रोबोटिक सुरक्षा,ड्रोन आदि का प्रयोग कर सीमाओं को तस्करों और आतंकियो से मुक्त बनाने के लिये जरूरी है।आज शत्रु देश भारत मे अस्थिरता फैलाने के लिये मादक पदार्थो की तस्करी,हथियारों और अपने एजेंटो के द्वारा अराजकता&आतंकवाद फैलाने के लिये फंडिंग कर रहा है।इसे रोकने&कार्यवाही