स्मार्ट शहरों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल पर अपने सुझाव भेजें

अंतिम दिनांकJul 31,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

डेटा और उभरती प्रौद्योगिकियों यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के ...

डेटा और उभरती प्रौद्योगिकियों यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के मूल्य को पहचानते हुए आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के स्मार्ट सिटीज मिशन ने 'एआई फॉर स्मार्ट सिटीज' पर एक अवधारणा नोट तैयार किया है। यह दस्तावेज स्मार्ट शहरों में एआई के इस्तेमाल के महत्व और लाभों से अवगत कराने के लिए तैयार किया गया है, जिससे नागरिक सेवा वितरण और समग्र शहर के कामकाज को सुगम बनाया जा सकता है।

इसके बाद, स्मार्ट शहरों के लिए एक एआई रणनीति तैयार की जाएगी जिसमें मंत्रालय प्रौद्योगिकी के विभिन्न पहलुओं, इसके प्रभाव और शहरों में इसे लागू करने के तौर-तरीके और इससे होने वाले लाभ का जिक्र होगा। आपकी जानकारी और इनपुट एक व्यापक और समग्र रणनीति तैयार करने में सहायक होगी। इसलिए निम्न क्षेत्रों में आपके सुझाव आमंत्रित हैं ।

I. निम्नलिखित पहलुओं पर 500 शब्दों (अधिकतम) में शासन, संस्थागत डिजाइन और हितधारकों की भागीदारी पर अपना इनपुट प्रदान करें:
• शहरी क्षेत्र में एआई के उपयोग को बढ़ावा देने हेतु केंद्र, राज्य और स्थानीय सरकारों की भूमिकाओं का निर्घारण।
• क्वाड्रुपल-हेलिक्स भागीदारी (शिक्षा-सरकार-उद्योग-सिविल सोसायटी) ।
• शहरी भारत में एआई समाधानों के विकास और संवर्धन के लिए एआई गठबंधनों (वैश्विक और स्थानीय) का निर्माण।

II. निम्नलिखित पहलुओं पर 500 शब्दों (अधिकतम) में प्राथमिकता वाले शहरी क्षेत्रों और एआई कार्यान्वयन डिजाइन सिद्धांतों पर अपना इनपुट प्रदान करें:
• एआई के लिए किन क्षेत्रों पर विचार किया जा सकता है ।
• व्यापक शहरीकरण एजेंडा के साथ लिंकेज यानी शहरों के डेटा को स्मार्ट बनाना, उपयुक्त जलवायु, जीविका और आर्थिक विकास को बढ़ावा
• शहरी भारत में डिजाइन और कार्यान्वयन के हिस्से के रूप में एआई सिद्धांतों की पहचान की जाएगी ।

III. निम्नलिखित पहलुओं पर 500 शब्दों (अधिकतम) में मानव पूंजी और पारिस्थितिकी तंत्र के विकास से संबद्ध अपना इनपुट प्रदान करें:
• मानव पूंजी के लिए एआई को प्रोत्साहन यानी पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण और अनुसंधान
• शहरों में एआई के लिए बाजार, निवेश चैनल और वित्तपोषण की व्यवस्था
• शहरों के लिए अनिवार्य लिविंग लैब्स (एआई मेकरस्पेस, पायलटिंग, व्यावसायीकरण के रास्ते और शहरों में समाधानों की स्केलिंग)

IV. निम्नलिखित पहलुओं पर 200 शब्दों (अधिकतम) में प्रभाव के पैमानों पर अपना इनपुट प्रदान करें:
• परियोजनाओं पर एआई के प्रभाव को मापने के लिए केपीआई की पहचान ।

V. अन्य (अधिकतम 300 शब्द)

यह सूची संपूर्ण नहीं है, और आप महत्व के किसी भी अन्य क्षेत्र पर अपने सुझाव दे सकते हैं, जिसे आप स्मार्ट शहरों के लिए एआई रणनीति का हिस्सा बनाना चाहते हैं।

दिशानिर्देश:
1. आप अपने सुझावों को एक अलग दस्तावेज़ में टाइप कर सकते हैं और इसे अपलोड कर सकते हैं, यह पीडीएफ फ़ाइल फॉर्मेट में हो तो बेहतर होगा
2. प्रत्येक कैटेगरी के लिए शब्द सीमा ऊपर निर्धारित की गई है। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियां देते समय उनका पालन करें।
3. आपसे अनुरोध है कि आप जिस कैटेगरी के तहत प्रतिक्रिया प्रदान कर रहे हैं, उनका उल्लेख करें ताकि हमें बेहतर ढंग से समझने में मदद मिल सके ।
4. आपसे अनुरोध है कि आप सुनिश्चित करें कि आपके MyGov प्रोफ़ाइल अपडेटेड हों, ताकि आवश्यकता पड़ने पर आगे की बातचीत को सुविधाजनक बनाया जा सके।

स्मार्ट सिटी के लिए एआई कॉन्सेप्ट नोट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

आपके सुझाव 31.07.2020 तक भेजे जा सकते हैं।

इस कार्य के लिए प्राप्त हुई प्रविष्टियाँ
803
कुल
0
स्वीकृत
803
समीक्षाधीन
रीसेट