"जल बचाओ-वीडियो बनाओ-पुरस्कार पाओ" प्रतियोगिता

आरंभ करने की तिथि :
Jul 10, 2018
अंतिम तिथि :
Nov 05, 2018
00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

जन जागरूकता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जल संसाधन, नदी विकास और ...

जन जागरूकता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय "जल बचाओ-वीडियो बनाओ-पुरस्कार पाओ" प्रतियोगिता का आयोजन कर रही है।

आवृत्ति: पखवाड़ा (10 जुलाई से 24 जुलाई, 25 जुलाई से 8 अगस्त, 9 अगस्त से 23 अगस्त, 24 अगस्त से 7 सितंबर, 8 सितंबर से 22 सितंबर, 23 सितंबर से 6 अक्टूबर, 7 अक्टूबर से 21 अक्टूबर और 22 अक्टूबर से चार नवंबर)

पुरस्कार: हर पखवाड़े की प्रतियोगिता में तीन विजेता होंगे। प्रथम स्थान के विजेता को 25,000 रुपये, दूसरे स्थान के विजेता को 15,000 रुपये और तीसरे स्थान के विजेता को 10,000 रुपये का पुरस्कार के तौर पर दिए जाएंगें।

नियमों और शर्तों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

किसी भी प्रतियोगिता से संबंधित प्रश्न के लिए संपर्क करें
श्री गिरराज गोयल, निदेशक (आईईसी)
ईमेल - dircoord-mowr@nic.in

इस कार्य के लिए प्राप्त हुई प्रविष्टियाँ
1054
कुल
95
स्वीकृत
959
समीक्षाधीन
रीसेट
95 सबमिशन दिखा रहा है
4880
Abhinav Kumar 3 साल 5 महीने पहले

सर, जितने घर नल से पानी सप्लाई किया जाता है वहाँ पानी मीटर लगना चाहिए जिससे और पानी की कुछ चार्ज भी लगना चाहिए जिससे पानी की फिजूल खर्च पर नियंत्रण हो सके।

200
Rachana Rajendra Dhamdhere 3 साल 5 महीने पहले

Save water is the water conservation for solving the problems of water scarcity in the future. In many regions of the India and other countries there is much shortage of water and people have to go for long distance to get drinking and cooking water to fulfill daily routine. On the other hand, people are wasting more water than their daily need in the regions of sufficient water. All of us need to understand the importance of water and problems related lack of water
https://youtu.be/RiN_GNwmtuM

1300
Samridh Pathela 3 साल 5 महीने पहले

Water is the most precious gift of nature and we are not sensing the importance of it . We go on wasting water without even thinking if one day freshwater would be finished from Earth our life would also be finished . There are many ways by which you can save water but before that you must install some qualities in you that are intention , dedication and devotion. We should realise that no water no life . Save Water Save life.
Jai Hind !

https://youtu.be/zsbqWSFJJJ0

600
Umesh Gonhje Films 3 साल 5 महीने पहले

https://www.youtube.com/watch?v=nQ02IUhw1yU&t=141s

ग्वालियर शहर की पेयजल व्यवस्था बाधों के पानी पर निर्भर है। वर्षा से प्राप्त होने वाले जल को इन बाधो मे संरक्षित किया जाता है। लेकिन पिछले वर्ष कम वर्षा होने के कारण बाधो में संरक्षित जल भी कम हो गया है।