आईआरडीएआई के लिए एक टैगलाइन सुझाएं

आईआरडीएआई के लिए टैगलाइन सुझाएं
आरंभ करने की तिथि :
Jul 29, 2022
अंतिम तिथि :
Aug 31, 2022
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इस प्रलेख में इसके बाद ...

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इस प्रलेख में इसके बाद `आईआरडीएआई’ के रूप में उल्लिखित) भारत में बीमा उद्योग के लिए विनियमनकर्ता है। देश में बीमा क्षेत्र के विकास का अधिदेश भी इसे दिया गया है। पालिसीधारकों के हितों का संरक्षण सुनिश्चित करने एवं भारत में बीमा उद्योग की सुव्यवस्थित वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए संसद के एक अधिनियम के अंतर्गत वर्ष 2000 में इसकी स्थापना की गई है।

आईआरडीएआई बीमा पालिसी में उचित और न्यायसंगत शर्तें सुनिश्चित करने, प्रशिक्षित और अर्हताप्राप्त बीमा वितरकों, सुपरिभाषित दावा निपटान प्रक्रियाओं और क्रियाविधियों, प्रभावी और त्वरित समाधान के लिए सुदृढ़ शिकायत निवारण व्यवस्थाओं के द्वारा पालिसीधारकों के हितों का संरक्षण करता है। आईआरडीएआई बीमा क्षेत्र के विकास पर तथा एक किफायती ढंग से नवोन्मेष वितरण समाधानों के माध्यम से देश के प्रत्येक भाग में और समाज के प्रत्येक खंड में बीमा उपलब्ध कराने के लिए संकेन्द्रित है।

इस संदर्भ में, आईआरडीएआई अपनी भूमिका को सम्मिलित करनेवाला और अपनी भूमिका को चित्रित करनेवाला एक उपयुक्त टैगलाइन सुझाने के लिए देश की जनता को आमंत्रित करता है।

नोट-टैगलाइन केवल हिंदी में होनी चाहिए|

पात्रता मानदंड निम्नानुसार प्रस्तावित है-
1.सहभागी अवश्य 18 वर्ष से अधिक आयु के और भारत के नागरिक हों।
2.प्रविष्टियाँ केवल व्यक्तियों के लिए खुली हैं, न कि समूहों/संस्थाओं के लिए।

प्रविष्टियों का न्यायनिर्णय रचनात्मकता, मौलिकता, सरलता, दृश्य प्रभाव, स्पंदनशीलता, कलात्मक श्रेष्ठता पर तथा इस बात पर किया जाएगा कि मूल विषय (थीम) का संप्रेषण कितनी खूबी से किया गया है।

पुरस्कार संबंधी विवरणः
प्रत्येक श्रेणी हेतु विजयी प्रविष्टि के लिए (प्रत्येक टैगलाइन के लिए प्रत्येक प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार) नकद पुरस्कार प्रदान किये जाएँगे।
प्रथम पुरस्कार - रु. 20 लाख
द्वितीय पुरस्कार - रु. 10 लाख
तृतीय पुरस्कार - रु. 5 लाख

प्रस्तुति के लिए अंतिम तारीख 31 अगस्त 2022

नियम एवं शर्तें देखने के लिये यहाँ क्लिक करें

इस कार्य के लिए प्राप्त हुई प्रविष्टियाँ
3603
कुल
0
स्वीकृत
3603
समीक्षाधीन