स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन - यूज़र एक्सपीरियंस डिजाईन का परिचय पर प्रशिक्षण

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन क्या है?

विकास के लिए एक व्यापक जन आंदोलन बनाने और शासन को भारत में हर किसी तक पहुँचाने के लिए हम अपने देश में डिजिटल डिवाइड को पाटने और डिजिटल साक्षरता को बढ़ावा देने की आशा करते हैं। इस दिशा में काम करने के लिए एमएचआरडी के अन्तर्गत एआईसीटीई ने i4C, परसिस्टेंट सिस्टम्स लिमिटेड, यूजीसी, नैसकॉम, रामभाऊ प्रभोदीनि म्हालगी, सुमासॉफ्ट प्राइवेट लिमिटेड, डेलोइट, एसीएम इंडिया, और माईगोव के साथ मिलकर स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन, 2017, देश के सामने खड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए नए और विघटनकारी डिजिटल प्रौद्योगिकी नवाचारों की पहचान द्वारा एक अद्वितीय डिजिटल उत्पाद विकास प्रतिस्पर्धा का आयोजन प्रस्तावित किया है। इस प्रयास से हमारा उद्देश्य अपने देश के प्रत्यक्ष लाभ के लिए 3.0+ लाख छात्रों की रचनात्मकता और तकनीकी विशेषज्ञता के प्रयोग द्वारा एक मॉडल को संस्थागत रूप देना है। इसके आलावा कई केंद्रीय मंत्रालय इस पहल में भागीदार बनने के लिए सहमत हो गए हैं।

श्री प्रकाश जावड़ेकर, माननीय मानव विकास मंत्री द्वारा नई दिल्ली में 9 नवम्बर 2016 को शुरू किया गया। 'स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2017' छात्रों की विशेषज्ञता और रचनात्मकता को संवारता है, 'स्टार्टअप भारत, स्टैंडअप भारत' अभियान के लिए झरोखा बनाता है, प्रशासन और जीवन की गुणवत्ता में सुधार समाधान के लिए जनसंसाधन जुटाता है और भारत की कठिन समस्याओं के अभिनव समाधान प्रदान करने के लिए नागरिकों को अवसर देता हैं।

36 घंटे का बड़ा समापन 01 और 02 अप्रैल 2017 को 25 नोडल केन्द्रों पर एक साथ होगा। विजेताओं के पास एक नगद पुरस्कार और नैसकॉम के 10,000 स्टेण्डअप कार्यक्रमों का भाग बनने का अवसर होगा।

बड़े पैमाने पर ऑनलाइन प्रशिक्षण सत्र

डिजिटल इंडिया बनाने के लिए बिना रुके 36 घंटे तक रचनात्मक नवाचार के लिए कोडिंग करना कोई आसान काम नहीं है। इसके लिए योजना, धैर्य, लगन, समय प्रबंधन, मिलजुलकर काम और हाँ जानकारी की बहुत जरूरत है।

इसलिए हमने एक कदम आगे बढ़कर ग्रैंड फिनाले में सर्वोत्तम कोडिंग हेतु भागीदारों को प्रशिक्षित करने के लिए सर्वोत्तम "विषय विशेषज्ञ" प्राप्त करने की आवश्यकता महसूस की। हमने एक सर्वेक्षण किया जिसमें भाग लेने वालों को उन प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए वोट करने को कहा गया जिनकी उन्हें बहुत आवश्यकता थी। हमें देश भर से बहुत अच्छा उत्तर मिला और टीमों ने सर्वसम्मति से प्रशिक्षण कार्यक्रमों का चुनाव किया।

प्रशिक्षण का नाम: यूज़र अनुभव डिजाईन का परिचय

दिनांक और समय: शुक्रवार, 17 मार्च, 2017, सांय 2:00 से 4 :00 बजे तक

संक्षिप्त लेख: इस कोर्स का लक्ष्य शुरुआत करने वालों को यूज़र अनुभव डिजाईन संसार और विषय से परिचित करवाना है। यह यूज़र अनुभव डिजाईन के क्या, क्यों और कैसे पहलुओं के बारे में बुनियादी समझ प्रदान करता है। यह सत्र शिक्षार्थियों को ऐसे कई मूल्यवान डिजाइन सिद्धांतों से परिचित करवाएगा जिन्हें लागू करके वे यूजर अनुभव के स्तर को ऊंचा कर सकते हैं।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें

वार्ता
इस बात के लिए टिप्पणियाँ बंद हो गईं।