प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 31 जुलाई 2022 को मन की बात सुनने के लिए, जुड़े रहे!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 31 जुलाई 2022 को मन की बात सुनने के लिए, जुड़े रहे!

इस बात के लिए टिप्पणियाँ बंद हो गईं।
308630
SHARIF SHAIKH_3 2 सप्ताह 6 दिन पहले

अब चूँकि रेल्वे बजेट नहीं होता कार्य डिजिटल है, इको नही,रेल्वे मे सुधार करने होंगे। सरकार ने कुछ नई ट्रेने जरूर शुरू की है मगर आम जनता पर ध्यान नहीं दिया, क्यों कि जनता को साधारण गाड़ियों की ज़रूरत है। आप AC ट्रेने, ट्रेन 18, तेजस, हमसफ़र,राजधानी या बुलेट ट्रेन लाए तो इस का लाभ पैसे वालों को मिलेगा, इस मे सब का साथ सब का विकास कहां? हाँ 300 से 500 किलो मीटर दूरी की AC ट्रेन सिर्फ चेयर कार (बैठने) के लिए वाजिब किराए में शुरू करे तो अलग बात है। ज़रूरत तो साधारण गाड़ियों की है, इस बजट मे जरूर करे।

6680
raut26 2 सप्ताह 6 दिन पहले

Dear Prime minister, Modiji, there is no doubt that Dr. B. R. Ambedkar was a true lover of democracy and Architect of Indian Constitution. He was the Chairman of the Drafting Committee in the Constituent Assembly of India. The constitution he presented with equality, freedom and fraternity has emerged as one of the best constitutions.

308630
SHARIF SHAIKH_3 2 सप्ताह 6 दिन पहले

कोरोना से हमे यह सबक मिल गया है कि आपात्कालीन स्थिती मे मंदिर,मस्जिद,गिरजाघर सभी के दरवाज़े बंद हो सकते हैं ऐसे में अगर कोई अच्छे कार्य करने की सोचे तो समाज के प्रति योगदान मे पहले अस्पताल बनाने लिए आगे आने की। किसी की जयन्ती,पुण्यतिथी और AC ट्रेन,कारें,ऑफिसों पर खर्च करने से बेहतर होगा,अकेले नही, समाज के साथ मुमकिन है, बड़े बड़े स्मारक,पुतले और किसी की अगवानी मे करोड़ों फूंकने से बेहतर है। काम सरकार का है मगर धन की कमी क्यों कि काम से ज्यादा मोबदला सरकार चुका रही है, लेने वाले फिर भी भूखे है।

1180
AryanAgnihotri 2 सप्ताह 6 दिन पहले

Respected Uncle,
Pranam.

Your life teaches me the journey of a Normal Young Child to the Top Most position of a Country like India.

I am Aryan Agnihotri, a student of class -7, continuing my studies in DAV Public School, Unit-VIII, Bhubaneswar.

During Van Mahotsav week, since last 3 year I have been distributing 100s of saplings and hand drawn public awareness paintings to people in traffic joints with the help of my parents. I request people to plant the saplings somewhere near to their home and take care of the plants for at least 2 years. I tried to reach peoples from all sectors of society. I have attached some photographs of the occasion. Got an opportunity from His Excellency Governor of Odisha. I gave him a Sapling a Ashok Plant.

Need your kind permission and instruction to all the stakeholders to help me establishing Green Scouts in each school. The members shall be responsible for planting trees, making people aware about our theme "Lets make our own Oxygen"

308630
SHARIF SHAIKH_3 2 सप्ताह 6 दिन पहले

सरकार का BSNL को दुर्लक्ष कर निजी कंपनियों को बढावा देने की वजह मोबाइल रिचार्ज दरें बढ़ती जा रही है। रीचार्ज 1महिने से कम का नही होना चाहिए, 7 दिन रिचार्ज ना होने पर मोबाइल बंद होता है, जो गलत है, ट्राई ने 28 जनवरी को कंपनियों को ऐसा आदेश दिया है पर किसी भी कंपनी ने नही माना। सामान्य का उपयोग 1GB रोज़ नही है,तो 1.5 से 5GB रीचार्ज के प्लान क्यू? 10 से 15 GB के प्लान 100 रुपये से कम के बनाए, सादे मोबाइल वाले बहुत लोग है,जिन्हे नेट नही लगता फिर भी नेट का झासा दे उन्हे लुटा जा रहा है यह हकीकत है।

4090
Dr Jasmer Singh 2 सप्ताह 6 दिन पहले

सेवा में,

माननीय

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी

मैं डॉ. जसमेर सिंह सहायक प्रोफेसर जाट कॉलेज रोहतक ने आज से दस महीने पहले रोहतक शहर के साथ लगती दो नहरो पर खड़े होकर लोगों को पेयजल प्रदूषित न करने और नहरों तथा उनके पानी में कुछ भी सामग्री न डालने को प्रेरित करना शुरू किया था यह कार्य मै स्वयं अकेला करता था । परंतु आज इस मिशन में काफी लोग जुड़ चुके हैं। हम सभी सायंकाल को नहरों के पुलों पर हाथों में स्लोगन लिखी पट्टियां लेकर देर सायं तक लोगों को जागरूक करते हैं। बहुत लोग अंधविश्वास के चलते नहरों में 100 से ज्यादा प्रकार का सामान जैसे प्लास्टिक, पैकिंग बॉक्स, डिस्पोजल, हवन सामग्री की राख, नारियल, कोयला, अनाज, फल, मिठाईयां आदि डाल जाते हैं। जिससे पेयजल प्रदूषित हो रहा है। अतः आपसे निवेदन है कि नहरों और नदियों के पानी को बचाने व उसे प्रदूषित ना करने का आह्वान मन की बात कार्यक्रम मे जनता से करने का कष्ट करें।

मुख्य संरक्षक

'सुनो नहरों की पुकार मिशन'

डॉ. जसमेर सिंह

सहायक प्रोफेसर पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग अखिल भारतीय जाट सूरमा स्मारक महाविद्यालय, रोहतक

236350
Rajiv Ranjan Kumar 2 सप्ताह 6 दिन पहले

If this will continue for long run we shall give bad message to our new generation and I am scare if a son will address his father with abusive language. So it is my request to honorable Prime Minister Narendra Modi sir to make some law the maintain the status of our culture and nation. The Sanatan culture, that never born and never die. It is our duty to keep our sanatan culture intact in that form and whatever, dirts are make it dirty, cleans it off. Thanks to PM sir.

236350
Rajiv Ranjan Kumar 2 सप्ताह 6 दिन पहले

I also like to drew attention of honorable prime minister sir towards present political and social condition of our nation. People have forget the etiquette and manner to speak. The lok shabha and rajya shabah is highest place in democracy. It is like a temple. The member of most of political parties are forgotten the manner of behaving in the Sadan. They are making noise and using disrespectable words. They are representative of their own area. If they will behave like an uneducated, illiterates and an egotist person, then what king of message, they are trying to give our youth and new generation.
If a member of political parties will address PM, President and CM with nonparliamentary language what our kid will learn from their. I don't like to write those noun and pronoun, the politicians are using in Parliament and in TV shows is really very disgusting.