सांसद आदर्श ग्राम योजना

हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की परिकल्पना है कि ”अगर हमें राष्ट्र निर्माण करना है तो उसकी शुरुआत हमें ग्रामीण क्षेत्रों के विकास से करनी होगी।” उनके अनुसार यदि "प्रत्येक सांसद पांच साल में तीन गांवों को विकसित करने का निर्णय लेता है, तो देश के कई गांवों को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया जा सकता है।” प्रधानमंत्री द्वारा सभी सांसदों को यह निर्देश दिया गया है कि वह वर्ष 2016 तक अपने निर्वाचन क्षेत्र के एक गांव में विकास कार्य कर उसे आदर्श गाँव बनाएं और वर्ष 2019 तक दो और गाँव को विकसित करें। पहली बार किसी योजना को सांसदों के साथ जोड़कर शुरू किया गया है जिससे यह लक्ष्य प्राप्त किया जा सके। इसे सांसद आदर्श ग्राम योजना(एसएजीवाय) नाम दिया गया है।ग्रामीण विकास विभाग नागरिकों की भागीदारी से योजना के लिए दिशा निर्देश निर्धारित करना चाहता है।