रसायन और पेट्रो रसायन

रसायन उद्योग बढ़ती भारतीय अर्थव्यवस्था का एक अभिन्न अंग है। यह सबसे अधिक विविधतापूर्ण क्षेत्रों में से एक है जिसमें हजारों व्यावसायिक उत्पाद शामिल हैं। यह क्षेत्र मूलभूत जरूरतों को पूरा करने और जीवन की गुणवत्ता को सुधारने में प्रमुख भूमिका निभाता है। केंद्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (सी एस ओ) के अनुमानों के अनुसार, वर्ष 2012-13 में सकल घरेलू उत्पाद में रसायन और रासायनिक उत्पादों की हिस्सेदारी 2.11% (2004-05 के मूल्य पर) थी।

रसायन और पेट्रोरसायन विभाग पर देश में रसायन और पेट्रोरसायन क्षेत्र के विकास के लिए नीतियां और कार्यक्रम तैयार करने और उन्हें क्रियान्वित करने का दायित्वि है। इस समूह का लक्ष्य इस क्षेत्र के सतत् विकास के लिए रसायन और पेट्रोरसायन क्षेत्र के सभी हितधारकों और नागिरकों के साथ चर्चा करना और नया दृष्टिकोण विकसित करना है। यह समूह इस क्षेत्र में प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ाने, पर्यावरण पर पड़ने वाले कुप्रभावों को कम करने, अनुसंधान एवं विकास तथा प्रौद्योगिकी नवोन्मेषण, गुणवत्तापूर्ण जनशक्ति, हरित/स्वच्छ प्रौद्योगिकी को संवर्धित करने तथा विनिर्माण में गुणवत्ता मानक और सुरक्षा को बनाये रखने के जैसे जरुरी उपायों के बारे में प्रयास करेगा।