गंगा की सफ़ाई

गंगा हमारी आत्मा, संस्कृति और हमारी माता है! सदियों से इसने भारत के अस्तित्व को परिभाषित किया गया है। अफसोस यह है किउपेक्षा किये जाने के कारण गंगा की स्थिति दयनीय हो गई है। इसके लिए कई योजनाएं बनाई गई और पहल की गई लेकिन उससे गंगा की स्थिति में सुधार लाने में मदद नहीं मिली। यह समूह भारत के गौरव एवं इस प्राचीन नदी गंगा को साफ करने और इसकी महिमा को पुनर्स्थापित करने के लिए विचार और सुझाव चाहता है। यह दल कार्य एवं चर्चा करेगा। कार्य दोनों प्रकार के हो सकते हैं - ऑनलाइन और बाहरी। चर्चा के माध्यम से लोग अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं और सुझाव दे सकते हैं।