Gandhi@150 के अवसर पर समारोह

Last Date Jan 30,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से ...

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से दुनिया बदली जा सकती है। उनकी 150 वीं जयंती के साथ एक नई शुरुआत की जा रही है। वे अपने पीछे नैतिकता, आत्मसम्मान, क्षमा, अहिंसा और सत्याग्रह आदि की विरासत छोड़ गए हैं। अब दुनिया तेजी से विकसित हो रही है और सभी के सतत और समावेशी विकास के लिए कुछ पहलूओं पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।

गांधी स्मृति और दर्शन समिति इस डिजिटल मंच पर आपको खुली चर्चा के लिए आमंत्रित करती है जहां आप अपने बहुमूल्य विचारों को साझा कर सकते हैं।

इन विचारों को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती समारोह के लिए समर्पित विभिन्न कार्यक्रमों के संचालन में समिति द्वारा उपयोग किया जा सकता है।

भेजने की अंतिम तिथि जनवरी 30, 2020 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
3009 सबमिशन दिखा रहा है
16950
Manisha Dhurve 1 day 36 मिनट पहले

गाँधी जी समाज सेवा मे सबसे आगे ही रहें इनमे से एक थी स्वच्छता एक बार उन्होनें अपनी पत्नी से भी शौचालय की सफाई करवाई। अतः हमे भी स्वच्छता पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

16950
Manisha Dhurve 1 day 39 मिनट पहले

गाँधी जी ने सत्य अहिंसा को ही अपना धर्म माना था, खादी वा स्वदेशी अपनाने पर हमेशा जोर देते थे ।जिससे अपने देश के गरीब लोगो को रोजगार मिल सके।वे सदा अपने देशवासियो के हित मे ही कार्य करते थे।

2220
Gopakumar T K 1 day 11 घंटे पहले

Gandhiji's vision on cottage industries is the backbone of Indian Economy. Nodal Agencies to be engaged to identify the products and raw materials for same, improvisation of products, buying the products on cash and selling the same to retailers, as well as changing product if not viable. This will increase the purchasing power of rural India and overall economy. Nodal agencies shall be target oriented to ensure that the system works

1440
YourName Roshni Sriwas 1 day 16 घंटे पहले

As Ghandiji is commly know as Bapu. Ghandhiji helped our country to get freedom .He fought a fight without any metal. He said that use of Swadehi goods and not to use Boycott. He also started salt satyagraha. He is the only men who removed all the terrorist from India.. He started making the use of Charkha through which all the people of India stated making their own clothes. At last it can be concluded that, Ghandhiji works on the principle of non-violence, self dependent and made India free.