Azadi Ka अमृत महोत्सव के लिए आइडिया और सुझाव दें

Last Date Aug 15,2021 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कई मौकों पर वर्ष 2022 तक एक ...

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कई मौकों पर वर्ष 2022 तक एक नया और आत्मनिर्भर भारत के निर्माण को लेकर अपना दृष्टिकोण साझा किया है।
आपको मालूम होगा कि हमारा महान राष्ट्र अब भारतीय स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ (आज़ादी का अमृत महोत्सव) से महज 75 सप्ताह दूर है।

इस मौके की याद में माईगव आत्मनिर्भर भारत के लिए विचारों को क्राउडसोर्स करने के लिए ’आइडिया बॉक्स’ शुरू कर रहा है।
आप कल के भारत की कल्पना कैसे करते हैं, जो भारत सबसे आधुनिक, वैश्विक दृष्टिकोण के साथ सर्वश्रेष्ठ परंपरा का विलय करेगा?

निम्नलिखित विषयों पर हमारे साथ अपने बहुमूल्य विचार साझा करें:
• शासन
• विकास
• प्रौद्योगिकी
• सुधार
• वर्षों से प्रगति और नीति
• कोई अन्य

आप एक लेख, फोटो या वीडियो के प्रारूप में अपने इनोवेटिव विचारों को शेयर कर सकते हैं।

माईगव एक जनसहभागिता मंच है जो जनभागीदारी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और नीतियों को बनाने और विभिन्न सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को आकार देने के लिए उनकी राय लेता है। नागरिक इस प्लेटफार्म के माध्यम से अपने विचारों को मूल नीति के मुद्दों पर, सुझाव देने, प्रतिक्रिया देने और बड़े पैमाने पर चर्चा, कार्य, चुनाव, वार्ता, आदि के माध्यम से शासन प्रक्रिया में भाग लेने में सक्षम हैं।

जमा करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त 2021 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
7253 सबमिशन दिखा रहा है
53780
GARAIYA AKSHAY 32 मिनट 46 सेकंड पहले

हमारे स्वाधीनता संग्राम में ऐसे भी कितने आंदोलन हैं, कितने ही संघर्ष हैं जो देश के सामने उस रूप में नहीं आए जैसे आने चाहिए थे। ये एक-एक संग्राम, संघर्ष अपने आप में भारत की असत्य के खिलाफ सत्य की सशक्त घोषणाएं हैं, ये एक-एक संग्राम भारत के स्वाधीन स्वभाव के सबूत हैं, ये संग्राम इस बात का भी साक्षात प्रमाण हैं कि अन्याय, शोषण और हिंसा के खिलाफ भारत की जो चेतना राम के युग में थी, महाभारत के कुरुक्षेत्र में थी,  हल्दीघाटी की रणभूमि में थी, शिवाजी के उद्घोष में थी, वही शाश्वत चेतना, वही अदम्य शौर्य

53780
GARAIYA AKSHAY 42 मिनट 38 सेकंड पहले

Startups emerge out of a founder(s)’s deep desire to address certain problems. They reflect the founder’s personality in a lot of ways. So, at an early stage, it is virtually impossible for the company to be run by anyone other than the founder. Gradually, as the startup grows and receives further rounds of funding, the founder may think of bringing in a professional CEO

53780
GARAIYA AKSHAY 46 मिनट 54 सेकंड पहले

Pollution and environmental issues are the other challenges that India is facing at present. Though India is working hard, there is a long way to go. Degradation of land, depleting natural resources, and loss of biodiversity are the main issues of concern due to pollution. Untreated sewerage is the major cause of water pollution. The Ganga and Yamuna rivers are today two of the most polluted rivers in India. 

53780
GARAIYA AKSHAY 49 मिनट 9 सेकंड पहले

Though 12 million toilets claim to have been built under Swachh Bharat Abhiyan in the last five years, as per a UN report, 44% of the population continues to defecate in the open. Sanitation, solid waste management, and drainage continue to pose challenges in India.

57620
mahesh biyani 1 घंटा 57 मिनट पहले

amrut@75 a torture on honest hindus b/order tughlaq collegium india guran shariah ! can we have a white paper on what exactly was suppose to be achieved frm independence v/s actual. Power passed on to barbarians 0/100 toppers lutyens fiefdoms fm brits & life of honest hindu worse off forget improvement !Temples, vedic schools, dharmshalas captured to loot/rape/torture hindus by brits continues at 100X pace, scale under modi all lutaoed on mecca/vatican reservations 1rule4all gandy marji

14910
Harpreet Kaur 3 घंटे 15 मिनट पहले

Azaadi ka Bharat Aaj Main aapko aur aapke Samne iss bare mein discuss karna chahungi ki Hamen Ek Taraf toh lagta hai ki Hamen use Hamen brushta Nahin banana chahie Narendra Modi ji Ne Jo Karya kiya hai uplabdhi ke liye Hamen Narendra Modi ji ko dhanyvad karna chahie aur Hamen Ekta banaa Ke Rakhna chahie aur ho sake koi bhi Sankat Hamen Aaye To Hamen Rahana chahie aur uske aur azaadi ka Bharat Yahi Hamesha Khata hi kijo Azadi mile hai usme jiye aur jine dee.

14910
Harpreet Kaur 3 घंटे 26 मिनट पहले

Namaste aap Ke Samne keehti rarungi Jo bahut hi important topic Hai vah Azadi ka Bharat Azadi ka Bharat Mein Aaj ko Hamen yah bharat mein Bhrashtachar aur galat kam ab ktm ho gaya hai Kyunki bhartiya janta party party Jab Se aa gaye hai unhone usko Bharat se bhrashtare hataya hai aur unhone Har Taraf se adhikta aur vyakti ko Sikhaya hai ki Hamen Ekta ke sath Rahana chahie Har Tarah ka bhrashtachar unhone kisi ke nahi kiya hai.Iske ke sath namaste..