29 सितंबर, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात के लिए भेजें अपने सुझाव

अंतिम दिनांकSep 28,2019 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों ...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों पर अपने विचार साझा करेंगे। मन की बात कार्यक्रम के 57 वें संस्करण के लिए प्रधानमंत्री आपसे सुझाव आमंत्रित करते हैं, ताकि इस कार्यक्रम में आपके नूतन सुझावों व प्रगतिशील विचारों को शामिल किया जा सके।

'मन की बात' के आगामी संस्करण में आप जिन विषयों व मुद्दों पर प्रधानमंत्री से चर्चा सुनना चाहते हैं, उससे संबंधित अपने सुझाव व विचार भेजना न भूलें। आप अपने सुझाव इस ओपन फोरम के माध्यम से साझा कर सकते हैं अथवा हमारे टॉल फ्री नंबर 1800-11-7800 डायल करके प्रधानमंत्री के लिए अपना सन्देश हिन्दी अथवा अंग्रेजी में रिकॉर्ड करा सकते हैं। कुछ चुनिंदा संदेशों को 'मन की बात' में भी शामिल किया जा सकता है।

इसके अलावा आप 1922 पर मिस्ड कॉल करके एसएमएस के जरिए प्राप्त लिंक का इस्तेमाल कर सीधे प्रधानमंत्री को भी सुझाव भेज सकते हैं।

29 सितंबर, 2019 को प्रातः 11:00 बजे मन की बात कार्यक्रम सुनना न भूलें।

रीसेट
6619 सबमिशन दिखा रहा है
9410
Kunjalata Medhi 2 साल 3 सप्ताह पहले

If we look back at about 40 years ago India was free from all types plastics.Still,how that time the people of our country lead their daily life??Because India has plenty of trees.plenty of cloths making factories.,plenty of steel factories,

11360
anushree 2 साल 3 सप्ताह पहले

Respected PM sir..we are blessed to have you as our leader who listen to our problems... sir I want u to pay attention to problems needed much attention .. In our cg state reservation limit has been crossed to 82% ... their is no job opportunities..and they are also suspending already declared avacancies..so I request u to plz plz do something for this ... We will be highly greatful to u sir 🙏

4560
Isha Rani 2 साल 3 सप्ताह पहले

राष्ट्रीय शिक्षा नीति

हमारे अमर शहीदों ने मातृभूमि को स्वतंत्र कराने के लिए अपने जीवन का बलिदान दे दिया परंतु आज भी यह धरती सांस्कृतिक पराधीनता से मुक्ति के लिए प्रतीक्षा कर रही है ।

जब तक देश की शिक्षा नीति में भारतीय भाषाओं, इतिहास एवम् संस्कृति को पुनरस्थापित नहीं किया जाता, भारत अपने उत्कर्ष को प्राप्त नहीं कर सकता

यदि हम अभी भी इस ओर कदम उठाने में विफल रहे तो यह देश स्वतंत्र होकर भी पराधीन ही रह जाएगा, विश्व का मार्गदर्शक होने का गौरव खो देगा

जय विश्वास जय भारत
भवतु सब्ब मंगलम्।

5460
Gold 2 साल 3 सप्ताह पहले

Indian economy collapsed due to lower returns on their invested money like especially FDs or other small savings i.e money is deleting day by day, because lower FD rates distract investors (or small money lenders/depositors) from the banks away.
loan is based on FDs or others securities deposited in the bank so lower interest rate on FDs dilute the bank's capital and leading to slower economy. so decreasing corporate tax and increasing interest on FD /other security deposits will push the econ

1360
Vishal prajapati 2 साल 3 सप्ताह पहले

१३० करोड़आबादी वाले देश भारत में ५० करोड़
व्यक्ति प्रत्येक साल २ पेड़ लगाए तो पर्यावरण की स्थिति सुधर जाएगी! वन विभाग के इलाकों में गैर सरकारी कंपनियों को वृक्ष लगाने का काम सौंपा जाए
जिससे जलवायु परिवर्तन होगा साथी आज की दुनिया में हमें इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग तथा सीएनजी से चलने वाले वाहनों का और सौर ऊर्जा का उपयोग करना चाहिए और साथ ही हमें सिंगल प्लास्टिक का उपयोग नहीं करना चाहिए इससे पर्यावरण को काफी नुकसान होता है और साथ में मानव जीवन में काफी दिक्कतें पैदा करते हैं

920
k kiran kumar 2 साल 3 सप्ताह पहले

Dear Honourable Prime minister,
A country needs good education system to progress and everyone would like to send their kids/children to a good school but
educational institutions charge donation as per their own wish and middle class spends large amount giving donation.it would be good if there is a cap on this and middle class will start spending same on other requirements which actually indirectly can spur growth .

400
Rajat Saxena 2 साल 3 सप्ताह पहले

In shot -
Respected sir ,
As a youth of developed INDIA want to share some path for swach Bharat abhiyan .
There is dustbin for every 200 mtr so that citizen don't throw garbage anywhere in road.This is the duty of government to seeing this.This simple step make a big change and our country also garbage free .
There is a pannel to run this so that employment also made.
Please think and take some action as soon as possible