29 मार्च, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात के लिए भेजें अपने सुझाव

Last Date Mar 28,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों ...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों पर अपने विचार साझा करेंगे। मन की बात कार्यक्रम के 62 वें संस्करण के लिए प्रधानमंत्री आपसे सुझाव आमंत्रित करते हैं, ताकि इस कार्यक्रम में आपके नूतन सुझावों व प्रगतिशील विचारों को शामिल किया जा सके।

'मन की बात' के आगामी संस्करण में आप जिन विषयों व मुद्दों पर प्रधानमंत्री से चर्चा सुनना चाहते हैं, उससे संबंधित अपने सुझाव व विचार भेजना न भूलें। आप अपने सुझाव इस ओपन फोरम के माध्यम से साझा कर सकते हैं अथवा हमारे टॉल फ्री नंबर 1800-11-7800 डायल करके प्रधानमंत्री के लिए अपना सन्देश हिन्दी अथवा अंग्रेजी में रिकॉर्ड करा सकते हैं। कुछ चुनिंदा संदेशों को 'मन की बात' में भी शामिल किया जा सकता है।

इसके अलावा आप 1922 पर मिस्ड कॉल करके एसएमएस के जरिए प्राप्त लिंक का इस्तेमाल कर सीधे प्रधानमंत्री को भी सुझाव भेज सकते हैं।

29 मार्च, 2020 को सुबह 11:00 बजे मन की बात कार्यक्रम सुनना न भूलें

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
6462 सबमिशन दिखा रहा है
1865920
ARUN KUMAR GUPTA 6 महीने 1 day पहले

#COVID19 A large number of migrant labours have reached Anand Vihar ISBT after being misled by some rumor. This is an emergency situation as how to get the converged crowd to get dispersed. It is serious issue. Police can not take any action in such situation. Who will make them listen to go back? How to arrange the buses to take them to different destinations ? The chances of getting them infected is also increasing with every moment and this can weaken our fight with Corona

46700
sandip patil 6 महीने 1 day पहले

मोदी जी पहले कोरोना और अब हंता दस्तक दे रहा है और सबसे महत्वपुर्ण बात ये है की सभी जानलेवा व्हायरस और बिमारीया चीन से ही फैल रही है ये कोई आम बात नही ये मानवता के खिलाफ और विश्व पर अपनी हुकुमत कायम रखने के लिए की गयी साजिश है इसपर आंतरराष्ट्रीय स्तर पर विस्तार से चर्चा करके सच्चाई के जड तक पहुंचना चाहिए और चीन को ही आंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्वारंटाईन करने की जरूरत है।
धन्यवाद

2900
Shubham Pushkarna 6 महीने 1 day पहले

PM Sir in the current scenario of pandamic Covid 19 , I would request you call for an National fast of one day so that the food saved from the same can be distributed to all needy people and make us all a part of Anti Corona Army.
Lots of love And good wishes to doctors, scientists,police, army and all unknown people protecting us
Jai Hindi

61370
Anil Kumar Chauhan 6 महीने 1 day पहले

कोरोना वायरस के इलाज में वयस्कों के लिए सिप्रोबिड 500 mg + ऐसीक्लोविर + बुखार होने पर पैरासीटामोल सुबह शाम लेने पर 4 घंटे में आराम मिलेगा|
कोरोना वायरस का प्रारम्भिक लक्षण सर्दी, जुकाम, ललाट व गले का गर्म होना, हल्का बुखार,थकान, हाथों में कम्पन, सिर का भारी होना है|बाद में सांस लेने में तकलीफ होती है|

19800
Dr Ratna Srivastava 6 महीने 1 day पहले

गांव भेजना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है। उन्हें रातो रात सेना बुलाकर जहां हैं वहीं इंतजाम किया जाय अन्यथा इटली बनाने से भगवान भी नहीं रोक सकता। सीएम केजरीवाल से पूछा जाय कैसे वहां से लोग पलायन कर गए। पर आप भी तो दिल्ली में ही हैं। अगर इट ली बना तो क्या होगा ईश्वर ही जाने

7110
viswanathan rathnachalam 6 महीने 1 day पहले

Inculcating Discipline in the minds of younger generation. patriotism sacrifice to be prime objective of bringing up children till the age of 10 Listening and repeating should be more than writing. From 10 onwards allow them to have their choice of interest rather than their parents.
A uniform civil code and restrictions for the media, cinema theater, journal and small regional political parties are a must so that people's mind is not polluted with false information.

19800
Dr Ratna Srivastava 6 महीने 1 day पहले

नमस्कार सर, विपदा की इस घड़ी में असाधारण भूमिका का निर्वाह करने वाले हमारे सफाई कर्मी, मीडिया कर्मी, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ, डाक्टर, प्रशासन सभी हमारे मसीहा है। हमारी shubhakamna है वे स्वस्थ रहें खुश रहें। लाक डाउन का पालन हमलोग कर रहे हैं पर किस प्रकार दिल्ली से लोग पलायन करने लगे और आप लोग सोते रहे। सभी किए कराए पर पानी फिर गया। केजरीवाल ने तो अनुचित किया ही पर गृह विभाग कैसे सोता रहा महामारी को खुद आमंत्रित किया गया है। सेना बुलाए और दिल्ली में ही रखे अन्यथा जहां हैं वहीं रहें। गांव नहीं