25 जुलाई 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम के लिए भेजें अपने सुझाव

Inviting ideas for Mann Ki Baat by Prime Minister Narendra Modi on 25th July 2021
आरंभ करने की तिथि :
Jul 05, 2021
अंतिम तिथि :
Jul 22, 2021
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों ...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर आपसे जुड़े महत्वपूर्ण विषयों पर अपने विचार साझा करेंगे। मन की बात कार्यक्रम के 80 वें संस्करण के लिए प्रधानमंत्री आपसे सुझाव आमंत्रित करते हैं, ताकि इस कार्यक्रम में आपके नूतन सुझावों व प्रगतिशील विचारों को शामिल किया जा सके।

'मन की बात' के आगामी संस्करण में आप जिन विषयों व मुद्दों पर प्रधानमंत्री से चर्चा सुनना चाहते हैं, उससे संबंधित अपने सुझाव व विचार भेजना न भूलें। आप अपने सुझाव इस ओपन फोरम के माध्यम से साझा कर सकते हैं अथवा हमारे टॉल फ्री नंबर 1800-11-7800 डायल करके प्रधानमंत्री के लिए अपना सन्देश हिन्दी अथवा अंग्रेजी में रिकॉर्ड करा सकते हैं। कुछ चुनिंदा संदेशों को 'मन की बात' में भी शामिल किया जा सकता है।

इसके अलावा आप 1922 पर मिस्ड कॉल करके एसएमएस के जरिए प्राप्त लिंक का इस्तेमाल कर सीधे प्रधानमंत्री को भी सुझाव भेज सकते हैं।

25 जुलाई 2021 को सुबह 11:00 बजे मन की बात कार्यक्रम सुनना न भूलें |

रीसेट
21601 सबमिशन दिखा रहा है
manikumar1973
Baas Image 18010
manikumar marepalli 1 year 4 महीने पहले

Respected PM Modi Ji, With Your Marvelous Inspiration, Designed a Environmental Protection Festival in The Name of "Full Moon Festival". We are Practicing This Celebrating With Nature Festival, in Our Communities Every Month, From Last Six Years.
On The Great Occasion of 75 years Independence "Azadi Ka Amrit Mahotsav", Our Country Can Initiate This Full Moon Festival Concept as Return Gift to The World.  
Details of Full Moon Festival in Audio Video Format and PDF as Follows...

JaysukhGondaliya
Baas Image 710
JaysukhGondaliya 1 year 4 महीने पहले

My wife has used free time of lockdown and prepared vegan fish feed from spirulina...this food shows excellent results on fish...she is also helping women in need by her small startup it's our small effort for atmanirbhar bharat and make in india .
she is PhD in microbiology..... We are from Bhavnagar, Gujarat.

https://zeenews.india.com/gujarati/gujarat/bhavnagar-doctor-prepares-pure-vegetarian-food-for-fish-164636

mygov_162697749491798541
SHARIF SHAIKH_3
Baas Image 390250
SHARIF SHAIKH 1 year 4 महीने पहले

प्रधानमंत्री जी, कोरोना की मार देश मे बेरोजगारों की संख्या और इस से निपटने के लिए कुछ तो उपाय ढूंढने होंगे,करों,पेट्रोलियम पदार्थों,रेडीरेकनर दरों में बढ़ोतरी यह उपाय नही, सरकार के पास पैसा आए, रोज़गार भी मिले, बढ़े और कोई नया कर भी ना लगे। सिर्फ सूचना,सुझाव लिख कर देने से काम नही होगा, कोई इन्हें देखता ही नही हैं,लाखों सुझाव के अंबार रोज़ाना इस माध्यम से आते हैं,क्या किसी पर कार्य हुआ? एक सुझाव है हज़ारों करोड़ रुपये का राजस्व नियमित प्राप्त हो ऐसी एक योजना के दो पर्याय है, आप चर्चा करें।

SHARIF SHAIKH_3
Baas Image 390250
SHARIF SHAIKH 1 year 4 महीने पहले

प्रधानमंत्री जी देश मे होने वाले चुनाव का कार्यकाल विधानसभा और लोकसभा के लिए चार वर्ष की अवधि कर देनी चाहिए, साथ ही स्थानिक स्वराज्य संस्थाओ और विधान परिषद, राज्यसभा के सदस्य का कार्यकाल भी सिर्फ तीन वर्ष का हो ऐसा करने से ज़्यादा लोगों को राजनीति मे आने का मौका मिलेगा। राजनीतिक पार्टियां सिर्फ दो या तीन बार किसी भी सदस्य को टिकट दे इस के बाद सदस्य चाहे तो वह निर्दलीय लड़ सदन मे आए, अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, रशिया, जर्मनी जैसे प्रशस्त राष्ट्र के कार्यकाल चार वर्ष है, हमारे यहां पाच वर्ष क्यों?

Sana_304
Baas Image 2750
Sana 1 year 4 महीने पहले

Respected prime minister
I want to let you know about dr.mahantesh Rammanavar sir the first Ayush doctor who dissected his own father's body .sir created awareness about body donation among the people.Including Dr.Ramannavar sir and his entire family has donated body sir is a NSS Volunteer,NSS Officer in Karnataka for the year 2018 Awareness about donation #ramannavar sir is a great inspiration to us and also to the Society.
The best thing is that I AM PROUD TO BE STUDENT OF RAMANNAVAR SIR.

SHARIF SHAIKH_3
Baas Image 390250
SHARIF SHAIKH 1 year 4 महीने पहले

शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी है, सुधार मुमकिन है प्राथमिक शिक्षण और उपचार सरकार हर किसी को सरकारी अस्पताल और सरकारी स्कूल्स मे अनिवार्य कर दे, स्तर में अपने आप सुधार होगा। आम जनता और सरपंच से लेकर नगरसेवक, विधायक, सांसद, मंत्री और ग्रामसेवक से लेकर तहसीलदार, गटविकास अधिकारी, एसडीएम, जिलाधिकारी सभी अगर सरकारी अस्पतालों मे उपचार करे तो सुधार होना ही है। सरकार से संबन्धित सभी को स्वास्थ एवं शिक्षा भत्ते ना दे और इस फंड का उपयोग शिक्षा और स्वास्थ्य के सुधार मे लगाए।

SrishtiSadashivPatil
Baas Image 680
SrishtiSadashivPatil 1 year 4 महीने पहले

respected prime minister ,

#ramannavarsir #bodydonation #blooddonation #skindonation

Dr. Mahantesh Ramannavar sir , a professor of anotomy at B M Kankanwadi Maha vidyalaya , gives a practical lesson to his students by dissecting his father's embalmed body , in Belgaum .The only person to dissest his own Father's body and bring awareness about body donation , skin donation, blood donation and inspires many youths in this country.

Sayali_87
Baas Image 3670
Sayali 1 year 4 महीने पहले

Respected Prime minister#bodydonation #eyedonation
#blooddonation#Drrammannavar
Dr.rammannavar sir 1st Ayush doctor to dissect his own father's body and awaking the people for body donation.He is been great inspiration in dissecting his Father's body in making awareness among people about body donation, blood donation and eye donation. He is been inspiration to thousands of students about the work is spreading all over people in making sense of even after dieing our body is so worth to learn

mygov_162697720891798241
SHARIF SHAIKH_3
Baas Image 390250
SHARIF SHAIKH 1 year 4 महीने पहले

आपका बच्चा और ग्रामसेवक, तहसीलदार, जिलाधिकारी या फिर सरपंच, नगरसेवक, विधायक और और सांसद के बच्चे एक ही सरकारी स्कूल मे शिक्षा प्राप्त करे तो, स्कूल और शिक्षा के स्तर मे सुधार होगा। प्रधानमंत्री जी का स्लोगन "सब का साथ सब का विकास" बात सच होगी। इसी प्रकार स्वास्थ संबन्धी प्राथमिक उपचार भी सरकारी अस्पतालों हम और यह सभी मान्यवर भी करने लगे तो सरकारी अस्पतालों मे भी सुधार होगा। अगर ऐसा कराने की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री ले, तो शिक्षा, स्वास्थ्य ही नही हर क्षेत्र मे सुधार होगा।