स्वाधीनता संग्राम से जुड़ी गौरव गाथाएं साझा करें

Last Date Oct 14,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

मन की बात के 27 सितंबर के एपिसोड में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ...

मन की बात के 27 सितंबर के एपिसोड में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहानी कहने की कला पर चर्चा की है। उन्होनें इस बात का भी उल्लेख किया कि हमारे देश में कहानी कहने की कला उतनी ही पुरानी है जितनी की मानव सभ्यता, जहां भी कोई इंसान होता है वहां पर कोई न कोई कहानी जरुर होती है।

हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने की तरफ बढ़ रहे हैं, प्रधानमंत्री ने पूरे देश के कहानी कहने वालों से आग्रह किया है कि हमारे गुलामी के काल की संघर्ष गाथाओं को सबके सामने लायें। विशेषकर 1857 से लेकर 1947 तक की गाथाएं। इस कालखंड की छोटी-बड़ी सभी गाथाएं हमारी नयी पीढ़ी को मालूम होनी चाहिए। हमारे देश के कहानीकारों को कहानी कहने की कला को फिर से जीवित करना होगा, इसके लिए हमें प्रयास करते रहना होगा। : प्रधानमंत्री मोदी

क्या आप 1857 से 1947 के बीच की किसी ऐसी प्रेरणादायी कहानी को जानते हैं जो कभी कही न गयी हो? शायद किसी ऐसे स्वतंत्रता सेनानी की कहानी जिसके बारे में लोगों को उतना न पता हो जितना पता होना चाहिए। शायद कोई छोटी सी ही घटना जिसका योगदान स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण हो? वह कहानी जो शायद आपने अपने घर के बड़े-बुजुर्गो से सुनी हो?

आप हमें वो कहानियां बताइये हम उसे समस्त भारतवासियों तक पहुचायेंगे!

अपनी कहानियां हमें वीडियो, ऑडियो, फोटो या फिर लिखकर भेज सकते हैं।

अभी भाग लें

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
1078 सबमिशन दिखा रहा है
590
Rupali Murkar 4 महीने 3 सप्ताह पहले

वासुदेव बळवंत फडके हे आद्य क्रांतिकारक होते.१८५७चा उठवा नंतर देशाला सशत्र क्रांतिकारकांची गरज होती. आणि फडकेंनी महाराष्ट्रात राहून जे काही जण आंदोलन केले , मला वाटेत की त्यांचं व्यक्तिमत्त्व सुधा टिळक आगरकर आणि सावरकर इतकाच महत्वाचं आहे.त्यांची देश स्वातंत्र्यासाठी च्या लढ्यात तितकाच खारीचा वाटा आहे.

49100
DR SWAPNIL MANTRI 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Bhikaji Cama
She was a part of Non Cooperative movement and Quit India Movement. Not just this, she also stood for gender equality and donated all her personal belongings to girls in orphanage. She unfurled the Indian flag at the International Socialist Conference at Stuttgart in Germany, 1907.

49100
DR SWAPNIL MANTRI 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Veerapandia Kottabomman
In South India, Veerapandia Kottabomman was the the revolutionary who refused to pay taxes to East India Company. Verrapandia was a chieftan from Panchalankurchi in Tamil Nadu but was betrayed by the ruler Pudukottai Vijaya Raghunatha Tondaiman to the British on 1st October 1799. He was publicly hanged on 16th October 1799.

49100
DR SWAPNIL MANTRI 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Aruna Asaf Ali: The contribution of Aruna Asaf Ali in India's freedom struggle didn't get due recognition. She worked tirelessly for the country's independence from the English. It was Ali, a staunch Congresswoman who hoisted the Indian National Congress flag during the Quit India Movement in 1942 at Gowalia Tank Maidan in Bombay.

49100
DR SWAPNIL MANTRI 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Velu Nachiyar: Despite supreme sacrifice for the country, not many of us are aware of Rani Velu Nachiyar, the first queen to fight against the British colonial power in India. Known by Tamils as Veeramangai, Nachiyar was the queen of Svaganga estate from 1780-1790.

2920
SM Bagchi 4 महीने 3 सप्ताह पहले

The clarion call by subhas bose. Give me blood, I wl give u freedom. Any sruggle for independence cant b achieved eithout bloodshed. whether it is sepoy mutiny toquit india movement. But to me the sepoy mutiny was waterdhed movement for independent struggle. Britisher tried to play rule &dividegame among soldier which sparked violence. However we csn not forget spiritual/industrial/literary revolution lef by our great philosopher/writet which greatly influenced ihe spirit of rebellion.we salut