मायगॉव - जीएसटी के लिए चर्चा सूत्र

MyGov - Discussion thread for GST
Last Date Aug 16,2017 00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

1 जुलाई, 2017 से जीएसटी लागू होने के साथ ही स्वतंत्र भारत का सबसे बड़ा ...

1 जुलाई, 2017 से जीएसटी लागू होने के साथ ही स्वतंत्र भारत का सबसे बड़ा अप्रत्यक्ष कर सुधार लागू हो गया। यह देश में अप्रत्यक्ष कर की दिशा में ना केवस सुधारात्मक कदम है बल्कि नियंत्रित करने वाला भी है। जीएसटी न सिर्फ व्यवसाय बल्कि आम आदमी को भी प्रभावित करता है। सामान्य तौर पर कहा जाए तो जीएसटी माल और सेवाओं के उपभोग पर एक कर है, वैसे कर जो उत्पादन के अंतिम चरण तक कई चरणों में या कहें सभी चरणों में लगाया जाता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जीएसटी के तहत अलग केंद्रीय और राज्य कर कानूनों के माध्यम से टैक्स-ऑन-टैक्स प्रभाव को हटाया जा रहा है। संक्षेप में अगर आप जानें तो जीएसटी के तहत, केवल मूल्य वर्धन पर लगाया जाएगा, जाहिर है इसका फायदा अंतिम उपभोक्ता द्वारा वहन किए जा रहे कर के भार को कम करना है।

जीएसटी में सबसे ज्यादा मौलिक परिवर्तन या कहें अहम परिवर्तन है कि इसमें फिलवक्त यानी एक जुलाई 2017 से पहले की कई करों का एकीकरण किया गया है।और इस अभियान के लिए मजबूत या कहें ठोस तरीके से आईटी के बुनियादी ढांचे का उपयोग किया गया है।यही वजह है कि अब रजिस्ट्रेशन( पंजीकरण), दाखिल रिटर्न और अन्य संबंधित गतिविधियों के सभी फॉर्म जीएसटीएन पोर्टल के माध्यम से उपयोग में लाए जा सकते हैं।

कुल मिलाकर जीएसटी 'एक राष्ट्र, एक कर, एक बाजार' के साथ आर्थिक रूप से मजबूत भारत बनाने में मदद करेगा।

https://cbec-gst.gov.in/ - इस लिंक पर क्लिक कर आप जीएसटी के बारे में और जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न पढ़ने के लये यहाँ क्लिक करें

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
840 सबमिशन दिखा रहा है
300
Niharika Bhargava 2 साल 3 महीने पहले

I recently read on newspaper that due to GST the treatment for kidney,heart,cancer patients will now be more costlier than before.Because of GST the instruments used fo curing these diseases will now be having more tax rate as compared before GST making treatment for such patients more costly.
I very humbly request the gov.to please review their decisin as already treatment for such diseases is costly than any other disease treatment.This decisin will affct poor as wel as middle clss pple.

370
Satish Agarwal 2 साल 3 महीने पहले

SIR, CAN THE TAX STRATAGY CHENGE TO PAPERLESS . बैंक input पर 1 % टैक्स लगा कर सभी तरह के टैक्स खत्म किये जा सकते है, साथ ही currency भी 100 rs से ज्यादा नही चलाई जाए , बैंक account no. आधार कार्ड हो जिसे किसी भी बैंक से use किया जा सके, आपके लाखो कर्मचारी , उनका खर्च खत्म हो जाएगा, क्योंकि cashless बेहद सरल और जरूरी हो चुका होगा तो CASH से संबंधित सभी अपराध 90 परसेंट खत्म, अब सभी भारतीय tax की जद में आएंगे और विकास का हिस्सा बनेगे। हो सकता है मैं गलत हूँ कृपया इस idea के practically ground पर स

200
Venkatesh Aithamoni 2 साल 3 महीने पहले

waiting for freedom of india
not waiting for your 15 lakhs sir
nation wants your reply and what happening on indo-china boarder there is small issue but you people said that issue of nation there is not nation issue that is a your dirty politics issue and corporate companies issue
Dont try to blockmail on indian people for the boarders of india
first the people frustrated on your news leakage for the boarders issue
News channels harrasing the people for boarders

200
Venkatesh Aithamoni 2 साल 3 महीने पहले

thank you for the mail
we dont want to say anything because we are unhappy with the rule and acts for the GST and Demontization,
there is no response of Demonitization and the suffering and troubles of people
where the statistical calculations of demonitisation
where is the block money AND how much amount of block money identify.
and next one is where is the advantages of GST
and where is the kashmir's sollution
when you stop on dirty politics on kashmir and jammu
the people are

300
AMMOGEPPA L PUJARI 2 साल 3 महीने पहले

This is subject I want put to discussion - We are pay GST, normaly most of the small marchents are not giving receipt, this main problem regarding collection of GST, my one opinion is that , give income tax relief to amount we payed as GST, similar to professional tax, this helps every should collect receipts from seller, Make such a arrangement that every individual may know his payment of get at any time
his help person how much of GST he/she paid to govt.

300
GAURAV JUNEJA 2 साल 3 महीने पहले

GST is a very bold decision of the govt. but to avoid tax some businessmen are selling goods(B2B) at lower rate as there is no trend in public to demand bill for every item. so the purpose of GST is not fully achievable. Cashless purchase at retail level should be imposed in phases.

2310
SUJAY PATIL 2 साल 3 महीने पहले

I understand that medical services are outside the scope of GST regime. I believe that while affordable medical services are essential in a country like India, there are cases of medical professionals evading direct taxes by collecting fees in cash. Hence, 1% tax may be levied on medical services to bring the revenues on record and assist in augmenting direct tax revenues.