बाँस मूल्य श्रृंखला से जुड़े नवाचार और अनुभव साझा करें

Last Date Jan 31,2021 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

युगों-युगों से बांस ग्रामीण भारत की जीवन रेखा रहा है। समय और ...

युगों-युगों से बांस ग्रामीण भारत की जीवन रेखा रहा है। समय और प्रौद्योगिकियों के विकास के साथ इसके नए तरीके के उपयोग से 'हरा सोना' किसान और उद्योग तथा ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए एक जबर्दस्त गेम चेंजर बन गया है।

'वन' की परिभाषा से बांस को हटाने के लिए भारतीय वन अधिनियम में संशोधन सहित विभिन्न प्रगतिशील उपायों के साथ, 2018-19 में पुनर्गठित राष्ट्रीय बांस मिशन (NBM) शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य पूर्ण मूल्य श्रृंखला के विकास हेतु किसानों को बांस क्षेत्र से जोड़ने के लिए क्लस्टर विकास मोड में गुणवत्ता रोपण सामग्री, वृक्षारोपण, संग्रह के लिए सुविधाओं के सृजन, एकत्रीकरण, प्रसंस्करण, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों, कौशल विकास और ब्रांड निर्माण की पहल शुरू की गई।

'राष्ट्रीय बांस मिशन' किसानों, उद्यमियों, शोधकर्ताओं, बांस-आधारित उद्योग को अपने अनुभवों, नवाचारों, और उत्पादकता बढ़ाने के लिए अपनाई गई अच्छी प्रथाओं, उद्योग के लिए कच्चे माल की आपूर्ति को मजबूत करने, समकालीन बाजारों की मांग के मुताबिक उत्पादों को मजबूत करने के लिए आमंत्रित करता है। ताकि सिंगल यूज प्लास्टिक की जगह और नए युग का निर्माण में इसके इस्तेमाल को बढ़ावा मिले।

उपयोगकर्ता किसी भी प्रारूप में अपनी कहानी साझा कर सकते हैं- टेक्स्ट और/या फोटो/वीडियो

वीडियो अपलोड करने के निर्देश:
1. कृपया अपनी फिल्म अपने YouTube चैनल पर अपलोड करें।
2. MyGov/my submission में लॉगिन करें।
3. कमेंट सेक्शन में अपनी फिल्म का यूट्यूब लिंक कॉपी पेस्ट करें। (फिल्म को यहां अपलोड न करें)

भेजने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2021 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
1489 सबमिशन दिखा रहा है
0
VASANTHAKUMAR M 38 मिनट 50 सेकंड पहले

நாம் நாட்டின் முதுகெலும்பு விவசாயிகளுக்கு நீங்கள் கொண்டு வந்து உள்ள சட்டம் திரும்பப் பெற வேண்டும். நாமது நாட்டின் பாதுகாப்பு துறையையும், இரயில்வே துறையையும் தனியார்மயம் ஆக்கப்படும் என்ற அறிவிப்பை மாற்றி அமைக்க வேண்டும். அனைத்து மக்களுக்கும் கல்வி, மருத்துவம் இலவசமாக வழங்கப்பட வேண்டும்.

படித்த இளைஞர்களுக்கு வேலைவாய்ப்புகளை உருவாக்க வேண்டும். இயற்கை வளங்களை பாதுக்காக்க வேண்டும்.

156220
Krravi 2 घंटे 8 मिनट पहले

Bamboos stories with our world Oxygen level. WHO Copyright no 373267

https://www.facebook.com/100022538210365/videos/903570347070897/
bamboo history with my real world invention base , every organism system
of the realitisim into bamboo .science , earth science education , school and collage top education . medical , medicine . oxygen protection with all natural earth system of sky . BASE of bamboo story as it is same and other all trees and to living organism together basesical system .

0
Gaurav mittal 4 घंटे 21 मिनट पहले

Bamboo can be a replacement for plastic but not in every way. I rather say that the invention is plastic bags etc is to promote reusability whereas we only use plastic bag once. So single bag of plastic should be used multiple times before throwing it in dustbins. For example after carrying vegetables in plastic bag we cut the bag( instead of opening) in order to take off the vegetables into refrigerator. We should not cut the bags rather reuse it multiple times.

91380
SHARIF SHAIKH_3 5 घंटे 23 मिनट पहले

बाँस की जड़े अस्थानिक एवं रेशेदार होती है। इसकी पत्तियाँ सरल होती हैं, इनके शीर्ष भाग भाले के समान नुकीले होते हैं। पत्तियाँ वृन्त युक्त होती हैं तथा इनमें सामानान्तर विन्यास होता है। यह पौधा अपने जीवन में एक बार ही फल धारण करता है। फूल सफेद आता है। पश्चिमी एशिया एवं दक्षिण-पश्चिमी एशिया में बाँस एक महत्वपूर्ण पौधा है। इसका आर्थिक एवं सांस्कृतिक महत्व है। इससे घर तो बनाए ही जाते हैं, यह भोजन का भी स्रोत है।

3500
Aradhana Rai 5 घंटे 35 मिनट पहले

बांस के उत्पादन को बढ़ाना चाहिए क्योंकि ये eco friendly है किसानों को और भारत के प्रत्येक नागरिक को उत्साहित करना चाहिए ताकि प्लास्टिक के समान कि जगह बांस ले और देश को प्लास्टिक संकट से दूर कर सकते हैं इसके लिए सरकार को कोई ना कोई ऐसी योजना बनानी चाहिए जिस से लोग बढ़ चढ कर हिस्सा ले और अधिक से अधिक बांस अपने घरों में लगाएं पर्यावरण को बचाए देश को प्लास्टिक से कोशों दूर ले जाए
आइए इस गणतंत्र दिवस पर हम अभी इसके लिए प्रतिबद्ध हो जाएं कि प्लास्टिक का उपयोग बन्द करने के लिए बांस का उपयोग बढ़ाएं