फास्ट ट्रैक इन्सॉल्वेंसी रेज़ोल्यूशन प्रक्रिया विनियमों के लिए सुझाव आमंत्रित

Suggestions Invited for Regulations for Fast Track Insolvency Resolution Process
अंतिम दिनांकMay 08,2017 00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय ने श्री एन के भोला, क्षेत्रीय निदेशक ...

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय ने श्री एन के भोला, क्षेत्रीय निदेशक (उत्तर), एमसीए की अध्यक्षता में एक कार्य समूह का गठन इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी संहिता, 2016 के अंतर्गत दिवालियापन और परिसमापन प्रक्रिया के लिए नियमों और विनियमों और अन्य संबंधित मामलों पर अपनी सिफारिशे प्रस्तुत करने के जनादेश के साथ किया था। इस कार्य समूह ने पहले कॉर्पोरेट स्वैच्छिक परिसमापन प्रक्रिया के लिए मसौदा नियम बनाये थे। इन ड्राफ्ट्स के आधार पर और उन पर प्राप्त सार्वजनिक टिप्पणियों पर विचार करने और उचित प्रक्रिया का पालन करने के बाद इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ़ इंडिया ने 31 मार्च, 2017 को इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ़ इंडिया (वॉलंटरी लिक्विडेशन प्रोसेस) विनियम अधिसूचित किये हैं।

इस कार्य समूह ने अब फास्ट ट्रैक कॉर्पोरेट इन्सॉल्वेंसी रेज़ोल्यूशन प्रोसेस ऑफ़ कॉर्पोरेट पर्सन्स के लिए मसौदा विनियम प्रस्तुत कर दिए हैं। यह विनियम एक निश्चित स्तर के नीचे की आय अथवा सम्पत्तियों वाले कॉर्पोरेट देनदारों अथवा ऋण की ऐसी राशि अथवा कॉर्पोरेट व्यक्तियों की ऐसी श्रेणियों पर लागू होंगे, जो केंद्र सरकार इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड की धारा 55 (2) के तहत अधिसूचित करे। फास्ट ट्रैक विनियमन के तहत समाधान प्रक्रिया दिवालिया होने की तारीख से 90 दिनों की अवधि में पूरी की जाएगी जिसे कुछ परिस्थितियों में प्राधिकरण के अधिकारियों की अनुमति से 45 दिनों तक बढ़ाया जा सकता है।

कोड की धारा 55 (2) के तहत, केंद्र सरकार ऐसी श्रेणियां अधिसूचित कर सकती है जिन पर फास्ट ट्रैक कॉरपोरेट दिवालियापन प्रस्ताव प्रक्रिया विनियम लागू होंगे। कार्य समूह ने फास्ट ट्रैक विनियम लागू करने के लिए कॉर्पोरेट व्यक्तियों की 3 श्रेणियां सुझाई है अर्थात छोटी कंपनियां, जैसा कि कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 2 उपधारा (85) में उल्लिखित है, कंपनियां / एलएलपी जिसने 2 करोड़ रुपये से अधिक धनराशि नहीं उधार ली है और डीआईपीपी अधिसूचना -180 (ई) दिनांक 17.02.2016 में परिभाषित स्टार्ट-अप।

फास्ट ट्रैक कॉर्पोरेट रेज़ोल्यूशन और पात्र कॉर्पोरेट व्यक्तियों पर मसौदा नियमों पर सार्वजनिक टिप्पणियां आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया है। तदनुसार, ड्राफ़्ट विनियमो के प्रत्येक प्रावधान पर टिप्पणियां आमंत्रित की जाती है। ड्राफ़्ट विनियम माईगोव पर यहां उपलब्ध हैं। सुझाव प्रस्तुत करने की आखिरी तारीख 8 मई, 2017 है।

फास्ट ट्रैक कॉर्पोरेट इन्सॉल्वेंसी रेज़ोल्यूशन प्रोसेस ऑफ़ कॉर्पोरेट पर्सन्स पर ड्राफ़्ट विनियम पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पात्र कॉर्पोरेट ऋणदाताओं के लिए ड्राफ्ट अधिसूचना पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रीसेट
104 सबमिशन दिखा रहा है
33230
srinivas khanna 4 साल 5 महीने पहले

First freeze all accounts of corporates which have not filed returns of income for the last three years. This will throw light on the money laundering through shell companies. Take over the assets and wind up such corporates. Next, list borrowing corporates which have not filed returns of income and freeze the assets of sureties to reduce NPA. This with a parallel action on promoters who have either divested their shareholding or not commenced operation within one year need to be wound up

8890
Vipul Jasani 4 साल 5 महीने पहले

Any company or business has taken loan or having debt, the salary and perks should be very limited and all luxury expenses by management should be banned. Ratio of top person earning to lowest earning should be less than 20.
Their books should be monitored and published among lenders.
This will prevent siphoning of money.
Make it compulsory for all companies to share min 20% of net profit every year by way of dividend.
Biz can not refuse dividend in name of future expansion requirement.

100
ivan kumar 4 साल 5 महीने पहले

Sir exam conducted by ssc cgl is partial. Because some sets of pre exam are moderate, some are difficult and some are difficult. So it's difficult to regulate the ability of candidates with each other. So either ssc should give generalised cutoff or setwise cutoff. Or pre exam should be made qualifying.

580
taviti raju chebolu 4 साल 5 महीने पहले

Thousands of crore rupees save power idea sir I am electrical engineer from Andhra Pradesh my suggestion is please use you E-40 size LED street light bulbs it is very low cost nearly 20 percentage of cost compared to present using LED street light and lighting is same equal.by using this street light bulb changing process is very easy and previous conventional Street light outer body will reused I have already sent this details to my cm, central power minister but no one replied me.

580
taviti raju chebolu 4 साल 5 महीने पहले

Thousands of crore rupees save power idea DM Odisha I am the closing automatically in engineer from Andhra Pradesh my suggestion is please use you XL size LED street light bulbs it is very low cost nearly 20 percentage of cost compared to present using LED street layout sector and lighting is same equal but using this world street light pole changing process is very easy and previous conventional Street lid outer body will reused I have already sent this details to my cm, central power minister

126620
JAGDISH PATHAK 4 साल 5 महीने पहले

Hon. PM had made historical decision of demonatisation of currency of rs. 500/ and rs. 1000/=, I want to suggest that, there is also required demonatisation of currency of rs. 100/=, so that, fake and illegal currency can be made out from economy, further, for easy transaction to public, it is required to issued new notes of rs. 200/=,further,new series of rs. 100/= all should be issued later, so , that economy can be made clean,people should be given enough time to deposit in bank,best wishes

100
Rahul Chimanbhai Mehta 4 साल 5 महीने पहले

This is Right to recall Mp law-draft and procedure code as suggested by us as RRP. This draft in our opinion is better than than draft presented by MP Shri Varun Gandhiji as private member's bill in Loksabha. We request activists to download this draft, and obtain Shri Varun Gandhiji's draft from internet, and compare, and decide. If they support our draft, then pls share link to this draft on your twitter profile .
.
For more info, pls see my fb profile at https://facebook.com/MehtaRahulC