कोरोनावायरस से निपटने के लिए अपने विचार व सुझाव भेजें

Last Date Jun 30,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

COVID 19- कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने ...

COVID 19- कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए भारत सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। देश की जनता के सक्रिय सहयोग से हम देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई जानकारी और सलाह को सावधानी व सही तरीके से पालन कर वायरस के स्थानीय प्रसार को रोका जा सकता है।

#Coronavirus के संक्रमण से निपटने की मुहिम में सभी लोगों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से आपके विचार और सुझाव आमंत्रित हैं। कोरोनोवायरस से निपटने हेतु आपको सुझावों में स्वच्छता, हाथ धोने, संपर्क से बचने और अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए अभिनव और सर्वोत्तम तौर-तरीकों व सुझावों को शामिल किया जा सकता है। घबराने के बजाय इससे निपटने के लिए सतर्क, सावधान और तैयार रहें।

कोरोनावायरस के खिलाफ मुहिम का हिस्सा बनें!

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
156171 सबमिशन दिखा रहा है
61330
SHARIF SHAIKH_3 4 महीने 3 सप्ताह पहले

अनलॉक -1 से जनता संतुष्ट भले ही हो या ना हो मगर जिस प्रकार पहले लॉकडाउन से जनता और श्रमिकों ने पलायन मे जो परेशानी का सामना किया यह यक़ीनन भारतीय सहनशीलता को प्रमाणित करता है,कुछ समय बाद श्रमिकों की परेशानी और सहनशीलता भारत के इतिहास का हिस्सा बनेगी। भारत विश्व का एकमात्र ऐसा देश है जहां रोज़गार के लिए अनेक राज्यों में लोग उत्तर से दक्षिण,पुरब से पश्चिम,उत्तर से मध्य और पश्चिम पलायन करते हैं, लॉकडाउन से बड़े शहरों में कोरोना पर ब्रेक लगा, वहीं अनलॉक से फिर कोरोना वापसी की सम्भावनाएं हो सकती है।

520
akshay sindhani 4 महीने 3 सप्ताह पहले

after unlock 1 people are non serious.
we need to take some steps ..
:- I am running a grocery store now shops are open from 10 am to 8 pm for 10 hrs, we are at a high risk because we are eating there drinking water having food instead of taking all precautions, sanitizers, masks we are NOT SAFE..
SIR THIS TIME IS NOT FOR MAKING PROFITS ALSO WE CAN'T HOLD OUR ECONOMY BUT WE CAN REDUCE TIME OF WORKING if shops will remain open for limited time people will go out in a limit..

61330
SHARIF SHAIKH_3 4 महीने 3 सप्ताह पहले

कोरोना देश मे रुकावट बन गया है वहीं दूसरी ओर इस की चपेट में आने वाले मरीज़ों की संख्या चाहे जो भी हो हकीकत यह है कि हमारे देश में कई ऐसे भी लोग है जो जाने अनजाने मे उन्हें पता भी नहीं है कि वोह कोरोना जैसे मर्ज़ से आहत हुए हैं। देश में अनेकों मरीज़ों के परिवार को जब क्वॉरानटीन कर सॅम्पल लिया जाता है तब हैरानी होती है कि कुछ लोग इस मर्ज़ से उबर कर बाहर निकल गए हैं। इस बात पर गौर करे तो देश में कम से कम 25 प्रतिशत मरीज बिना इलाज के इस महामारी को परास्त कर चुके हैं। यह सरकार के लिए राहत की बात है।

2320
GATTU SAAI KRISHNA 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Declare all the exams of the students has Promoted irrespective of the Universities, colleges of Degree, Btech, MBA, Etc in all over India so that Most of the Unnecessary movements will be go down. 50 Percentage of Movements will be reduced by declaring them all promoted and at the same time, university and other colleges has to totally restrict from giving assignments and other work to the students in these COVID situations. All the States Government has to decide it

1020
Y Sulagna 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Well, all we know that what's corona virus, what's the symptoms,what precautions should we have to take.
Situation gets more to more difficult day by day.
Dear PM sir 🙏,
We all know you doing very well in this pandemic time period.
So I'm a microbiologist. Hope that this bad vibes and bad days will end very soon.
Stay home,Stay safe, stay alert and stay strong. 🙏🏼
Hope for the good vibes to come soon.💫

500
Mihir Ranjan 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Sir I want to share my ideas about the current situation of covid pandemic in India.
In my opinion,a very strict lockdown must be imposed one more time but this time it must be very strict so that the crisis can be controlled.I am saying this because the recovery rate is much higher than the rate of active cases ,a strict lockdown will enable a decrement in the rate of active cases so the load on the hospitals will become less and this will lead to more recovery due to less cases.

1160
SACHIN SETH 4 महीने 3 सप्ताह पहले

'ईमानदार' करदाताओं को करें माफ जिसने बीमारी फैलाई उनसे लो हिसाब
बहुत हुआ कोरोना का मुफ्त इलाज अपने अपने खर्चे पर कराओ अपना इलाज
यही इलाज लोगों की लाइलाज बीमारी को करेगा ठीक लोग पहनेंगे मास्क और मेंटेन करेंगे दूरी

2320
GATTU SAAI KRISHNA 4 महीने 3 सप्ताह पहले

Better to take precaution before the Lockdown implemented if any from July 2020 onwards Main problem will be more for police and doctors to restrict the daily wages labours and another state citizen from going to their village or state. Just give ti,e limit of 2 days to go to their native place. So that not only other state citizens but nonlocal students, job holders, merchants can go to their native place before the lockdown implement also