किसानों से प्रधानमंत्री की ‘मन की बात’ कार्यक्रम 22 मार्च,2015

PM’s Mann Ki Baat with farmers on 22nd March, 2015
आरंभ करने की तिथि :
Mar 11, 2015
अंतिम तिथि :
Mar 23, 2015
00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, 22 मार्च,2015 को किसानों से अपनी 'मन की ...

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, 22 मार्च,2015 को किसानों से अपनी 'मन की बात' प्रस्तुत करेगें।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, भारत के सभी किसान भाइयों और बहनों के साथ बातचीत करने के लिए बहुत उत्सुक है और कृषि संबंधित मुद्दों पर उनके विचार, सुझाव और अनुभव जानना पसंद करेंगे। प्रधानमंत्री जी ने भारत के सभी किसानों से ‘मन की बात, आकाशवाणी, संसद मार्ग, दिल्ली-110001’ पर पत्र लिखने और भेजने का अनुरोध किया है। कार्यक्रम के दौरान कुछ किसान सीधे प्रधानमंत्री से अपने सवाल पूछ सकते हैं।

मेरी सरकार ने भारत के मेहनती किसानों को अपने विचारों और सूचनाओं के माध्यम से 'मन की बात' कार्यक्रम में योगदान करने का एक सुनहरा अवसर दिया है।

प्रधानमंत्री ने बार-बार कहां है की जब तक भारत के किसान प्रगति नहीं करेगें तब तक भारत प्रगति नहीं कर सकता और केंद्र सरकार भारत में कृषि की प्रगति सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी इस बात का आश्वासन भी दिया है।

रीसेट
4934 सबमिशन दिखा रहा है
6190
Ashutosh Tiwari 7 साल 4 महीने पहले

ModiSir kindly advertise through DAVP in all English Hindi regional languages asking Kisaan farmers not to commit suicide and make family hell I Modi personally / through another new ministry not agriculture shall look after each case through state government loans repayment problem enhancing repayment waving interest or loan until next crop or year Modi Sir central government can afford 50K crores spending savings precious farmer's individual life yourMann kibaat missed this your topic

860
Lalit_5 7 साल 4 महीने पहले

Sir I thankful u clear to nation farmers and people what is farmer bill
And it is very helpful to farmers cause no babu makes them fool on behalf of gov policy
Ur word mean people know it's signature of Bill
U give direct slap opposition who make us fool since 1947
We should proud we have great prime minister
Hope we get great president like u

860
Lalit_5 7 साल 4 महीने पहले

Sir I real appreciate ur swatch Bharat Abhiyan but people want to clean there country but ur employees doesn't support all gov office authorities hospital school college etc are very poor condition instead of private u must be focused in gov institutes if family parent follow clean children do same we really love ur focus visions but all ur party members not. So do strike action

570
ved uppal 7 साल 4 महीने पहले

आदरडीयं प्रधानमंत्रीजी
भूमि अदिग्रहण बिल द्वारका एक्सप्रेस वे जेसे मुद्दों का सम्मानजनक हल प्रदान करता हे वर्षो से आम जनता वांछित लाभ से विमुख रही तो वही पालम विहार के निवासी आज भी डर के साये मे रह रहे हे !ऐसे कई प्रॉजेक्ट होंगे जो विकास और आम सहमति या उचित मुआवज़े के कारण वर्षो से न्यायलाओं मे लटके पड़े होंगे आम जनता और भूमि मालिक दोनो एक तो वांछित लाभ से विमुख दूसरा मानसिक प्रताड़ना तीसरा और सबसे अहम उस इलाके का विकास न होना आशा हे यह बिल देश की प्रगती मे मील का पत्थर साबित हो

1850
Arun Pr Sharma 7 साल 4 महीने पहले

Spokes person must stand up and may ask for what's wrong in the bill instead of defending the bill and make it public. Agriculture produce pricing must be decided after open discussion with farmer directly in which central government decisive so that they must fell ownership of government.

1140
Karthikeyani Palanisamy Gounder 7 साल 4 महीने पहले

We have to utilize Technologies in Agriculture filed also. Now we have approx.125 corers of population, must have to ensure that sufficient nutritious food to all in all time, this is our first target then second target is export to all countries....

270
Paresh Kolhe 7 साल 4 महीने पहले

Govt should calculate the ratio of prices of fertilizers, seeds, Electricity bills and labour to the income from land aa farmer is getting it will really shocking that prices of all things are very high but comaprativly the money getting by farmer after selling his goods is too less. It is the major reason that farmers economical condition in INDIA is going down day per day. I request govt to raise the goods price that farmer is getting by there valid way. It will definatly going to help us.