एक जीवंत और सुदृढ़ कपड़ा क्षेत्र के विकास हेतु अपने विचार और सुझाव साझा करें

Share your ideas and suggestions to develop a vibrant and robust Textiles Sector
आरंभ करने की तिथि :
Jul 30, 2021
अंतिम दिनांक :
Aug 15, 2021
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

भारत के विकास के तार कपड़ा क्षेत्र की सफलता से जुड़े हुए हैं। कृषि के ...

भारत के विकास के तार कपड़ा क्षेत्र की सफलता से जुड़े हुए हैं। कृषि के साथ उद्योग का सहजीवी संबंध लाभार्थियों के क्षेत्र को विस्तृत करता है।
• 4.5 करोड़ लोग प्रत्यक्ष रूप से कार्यरत हैं जबकि अन्य 6 करोड़ अप्रत्यक्ष रूप से। इस क्षेत्र में महिलाओं और ग्रामीण आबादी की काफी हिस्सेदारी के साथ हैं।
• वस्त्र और परिधान में वैश्विक व्यापार का 5% हिस्सा भारत का है।
•इस क्षेत्र में भारत के सदियों पुराने ज्ञान और विशेषज्ञता ने इसे कुल निर्यात (2018-19) में 12% हिस्सेदारी के साथ दुनिया के दूसरे सबसे बड़े निर्माता और निर्यातक देश के रूप में स्थापित किया है।

और अब हम, कपड़ा मंत्रालय में, भारत के लिए वैश्विक नेता का दर्जा हासिल करने के लिए प्रयासरत हैं। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के दूरदर्शी नेतृत्व में सरकार निर्यात, गुणवत्ता और उत्पादकता, प्रतिस्पर्धा, प्रौद्योगिकी उन्नयन, अनुसंधान एवं विकास और प्रशिक्षण को बढ़ावा देकर आत्मनिर्भर भारत के मिशन को साकार करने के लिए नवाचार और प्रोत्साहन पर जोर दे रही है और इस उद्योग में कौशल विकास पर भी ध्यान दे रही है।

अब, हम अपने मिशन में तेजी लाने के लिए उद्योग के विशेषज्ञों, नवोन्मेषकों, छात्रों, व्यापार जगत के नेताओं और इस क्षेत्र के अन्य सभी योगदानकर्ताओं के सुझावों को जानने के लिए उत्सुक हैं। जैसा कि हम भारत की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष को मनाने जा रहे हैं, हम चाहते हैं कि कपड़ा उद्योग की सफलता में आपकी भागीदारी बढ़े।

अपने विचार और सुझाव साझा करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त 2021 है।

रीसेट
1211 सबमिशन दिखा रहा है
8370
Vinodkumar Chandrashekhar 3 महीने 2 सप्ताह पहले

Govt need to setup textiles industry in every state, rural areas, provide state of art automation machinery/technology, train unemployed youth.
To reduce the manufacturing cost, Govt need to encourage textiles industry setup, reduce duty on machine imports & provide subsidy to exporters.
Align to foreign needs, latest trends & quickly adopt to them.
Marketing, branding & promotion of India manufactured clothing in magazines, fashion shows
Cost effective, Timely, Quality delivery are the key

760
SABIRHUSSAINANSARI 3 महीने 2 सप्ताह पहले

is logo me green colour energy,determination ko dikhata hai logo me chakr hai ye development ko dikhata hai jo ki vikas ki gati ko dikhati hai, red colour confidence or power ka sign hai, jo ki rupya se aati hai ,logo me unchi unchi buildings darshai gai hai, jo desh ke Vikas or infrastructure ki gati ko dikhati hai, blue colour confidence or youth ka colour hai jo hamari desh ki prabhuta ko dikhata hai, Dekho kal ka Bharat ye meri tage line hai. Jo bhavashiye ki tarakki ko bata rahi

2330
AJITH A 3 महीने 2 सप्ताह पहले

Sir
Before British invade India, Indians textile had a big demand from all over the world. Because of the quality of the product.
But now the textile field is not in good, import of various textile product are the one of the reason for this.
To robust the textile industries, emphasis the domestic farmers into it, provide financial and infrastructure aids.
Reduce the import of foreign goods. And also increase productivity by innovation.

11230
Rima Chhabra 3 महीने 2 सप्ताह पहले

The size of clothes built by Indian textile local companies is too small to fit the large sizes of people's bodies in the western world and in urban India.
This makes the Indian textile products less attractive. Sizes should made for large size people and not for dummy dolls.

96230
RAJESH MAHATO 3 महीने 2 सप्ताह पहले

Textile Industry is providing one of the most basic needs of people and the holds importance; maintaining sustained growth for improving quality of life. It has a unique position as a self-reliant industry, from the production of raw materials to the delivery of finished products, with substantial value-addition at each stage of processing; it is a major contribution to the country's economy.