Share your ideas for Implementation of Budget Initiatives for the Agriculture Sector

Last Date Mar 31,2021 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कृषि क्षेत्र में बजट प्रावधानों ...

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कृषि क्षेत्र में बजट प्रावधानों के प्रभावी कार्यान्वयन पर एक वेबिनार को संबोधित किया है।

केंद्रीय बजट में कृषि क्षेत्र से संबंधित प्रमुख घोषणाएँ निम्न हैं और हम जनता और अन्य हितधारकों से विचार और सुझाव आमंत्रित करते हैं

• कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड को एपीएमसी में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
• ई-एनएएम ने कृषि बाजार में जो पारदर्शिता और प्रतिस्पर्धा लाई है, उसे ध्यान में रखते हुए 1,000 और मंडियों को ई-एनएएम के साथ एकीकृत किया जाएगा।
• वित्त वर्ष 2022 तक कृषि-ऋण को बढ़ाकर 16.5 लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य जिसमें पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन पर फोकस होगा।
• नाबार्ड के तहत 5,000 करोड़ के कोष के साथ बनाए गए माइक्रो इरिगेशन फंड को दोगुना करने की योजना।
• केंद्रीय वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन और NAFED जैसे CPSE की वेयरहाउसिंग संपत्ति को एसेट मोनेटाइजेशन प्रोग्राम के तहत रोल आउट किया जाएगा।
• बहु-राज्य सहकारी समितियों का विकास और उन्हें सरकार द्वारा सहायता। सहकारी समितियों के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए एक अलग प्रशासनिक ढांचा स्थापित करना।
• पीएलआई की योजना 10,900 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ है। खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला बनाने के लिए वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं का एक अभिन्न अंग बनाने के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का प्रयोग तथा मूल्य को बढ़ावा देना और निर्यात को बढ़ाना।
• कृषि और संबद्ध उत्पादों और उनके निर्यात में मूल्यवर्धन को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन ग्रीन स्कीम का दायरा जो वर्तमान में टमाटर, प्याज और आलू पर लागू होता है, को 22 खराब होने वाले उत्पादों को शामिल करने के लिए बढ़ाया जाएगा।
• 5 प्रमुख मत्स्य पालन बंदरगाह - कोच्चि, चेन्नई, विशाखापत्तनम, पारादीप और पेटुघाट आर्थिक गतिविधियों के केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। इनलैंड मछली पकड़ने के बंदरगाह और नदियों के किनारे मछली पकड़ने के केंद्र, जलमार्गों का निर्माण।
• समुद्री शैवाल खेती और मूल्य श्रृंखला को बढ़ावा देने के परिणामस्वरूप तटीय समुदायों विशेषकर महिलाओं के लिए तमिलनाडु में बहुउद्देशीय समुद्री शैवाल पार्क स्थापित करने से आय में वृद्धि होगी।

कृषि क्षेत्र के लिए बजट पहल पर एक विस्तृत पीपीटी के लिए यहां क्लिक करें।

भेजने की अंतिम तिथि: 31 मार्च 2021

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
1152 सबमिशन दिखा रहा है
15450
DR vaishali gawali 2 महीने 2 दिन पहले

महोदय मध्यप्रदेश के शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय मे संस्कृत शिक्षकों को उचित वेतन नहीं दिया जाता है इस और न शासन ध्यान देता है न प्रशासन भारत सरकार इस और गंभीरता से संज्ञान ले संस्कृत शिक्षक को उचित सम्मान मिले

1240
Shivangisharma 2 महीने 2 दिन पहले

Krishi kshetra ewm garibi unmulan ka ek bahut hi sunder example h ki ek taraf shasan 25/-Rs pr kg me kisano ka dhan kharid kr milling karne ke bad chawal ka kul muly 45/-Rs hota h aur phir yahi chawal inhi kisan garib janata ko 1/- per kg me pradan kiya jata h yh prakriya sabhi fasal utpad ke liye lagu ho to bharat se garibi gayab ho jayenge roti kapada makam jute chappal etc jaisi hr wastu ka muly nirdharan is tarah se ho to ram rajy ki sthapana sambhav h pr aise me aakhir log karenge kya?

14310
Vijay Kushwah 2 महीने 2 दिन पहले

अगर किसान 👉DRIP IRRIGATION SYSTEM 👈 करें तो बेहतर खेती कर पाएंगे।
इससे पोधों में darect पानी जड़ों तक जाएगा।
इस सिस्टम के किसान लोग कई फायदे उठा सकते हैं।
ना पानी वेस्ट होगा और नहीं किसी की की हानि होगी। एक और है 👉SPRINKLER SYSTEM 👈 इससे किसान बहुत फायदा उठा सकेंगे और अपने खेतों में अच्छी फसल उगा सकेंगे।
किसान पहले से ही कचरों का खाद बना लें और अपनी खेती में डाल दें।

धन्यवाद

फिर मिलेंगे और आइडिया लेकर तब तक लिए by by 👋👋🏻

3130
SanketSureshSarwade 2 महीने 2 दिन पहले

Water management for farming is main issue of farmers, so govt should help them with helping them for water management techniques.
Most of farmers from rural areas not aware about modern farming,seed management,dual farming, fertilizers uses, modern ideas, so it is our duty to make offices at gram panchayat level for farmers which helps them to know more information about modern ways of farming and management of water,seed,fertilizers etc.

3130
SanketSureshSarwade 2 महीने 2 दिन पहले

1. Make special department for spreading awareness for farmers , specially for rural area farmers
2. Make national campaign for all small,medium,large farmers to tell them about side bussiness with farming such as poultry,animal husbandry and also tell them about govt schemes for agricultural sectors.
3. Teach farmers to make organic fertilizers and to develope ideas for organic farming thorugh the meeting with agricultural specialists.
4.motivate young farmers to improve yeild in the field

17880
Satyakam sharma 2 महीने 2 दिन पहले

Krishi kshetra ewm garibi unmulan ka ek bahut hi sunder example h ki ek taraf shasan 25/-Rs pr kg me kisano ka dhan kharid kr milling karne ke bad chawal ka kul muly 45/-Rs hota h aur phir yahi chawal inhi kisan garib janata ko 1/- per kg me pradan kiya jata h yh prakriya sabhi fasal utpad ke liye lagu ho to bharat se garibi gayab ho jayenge roti kapada makam jute chappal etc jaisi hr wastu ka muly nirdharan is tarah se ho to ram rajy ki sthapana sambhav h pr aise me aakhir log karenge kya?