MyGov आइडिया बॉक्स

Last Date Mar 31,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

खुली चर्चा का एक ऐसा मंच जहाँ आप शासन और नीति-निर्माण के किसी भी विषय ...

खुली चर्चा का एक ऐसा मंच जहाँ आप शासन और नीति-निर्माण के किसी भी विषय पर अपने बहुमूल्य विचारों और सुझावों को साझा कर सकते हैं। ऐसे विचार जिनसे 2022 तक एक नए भारत के निर्माण में मदद मिले। (यह मंच उन मुद्दों और विषयों के लिए है जिनसे संबंधित MyGov पर कोई अन्य चर्चा नहीं चल रहा हो और यह नागरिकों के दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण हो।)

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
0
Gaurav Singhal 21 सेकंड पहले

फरवरी 2018 में ये 400 मीटर का पार्क सिर्फ एक प्लाट या कूड़ाघर था जिसको साफ करके मैने उसमें पेड़ पौधे लगाने शुरू किए और अब ये एक विकसित पार्क है। पिछले 20 साल में 4 सरकार आयी और गयी पर जनता के हित मे किसी ने भी कोई कार्य नही किया। जनता का हित स्वयं कार्य करने से होगा ये बात मुझे समझ आयी और मैंने ये कार्य किया और कूड़ाघर को पार्क में बदल दिया। अपने जीवन मे अगर सब अपने घर के पास एक एक पौधा लगाए तो ग़ाज़ियाबाद में प्रदूषण के दबाव को कम किया जा सकता है।

0
karan bhati 7 मिनट 39 सेकंड पहले

Apparels, footwear, fashion accessories are top targets for fakes and smuggled. There is less stigma for youth to buy such products, as the price tag is more important to them when shopping for style. They are not aware that it is damaging to consumers, brands and economy. This illegal business funds crime and terrorism. Govt must sensitize people to take a bill on any purchase. The more people will take bill and pay taxes- there will be greater benefit to them and the nation. Responsible consum

0
ASHISH 9 मिनट 13 सेकंड पहले

पोशाक/कपडे, जूते, फैशन एसेसरीज नकली और स्मगलिंग सामान बेचने वालों की प्राथमिकता है। ऐसे उत्पादों को खरीदना युवाओं के लिए कलंक है, क्योंकि स्टाइल के लिए खरीदारी करते समय उत्‍पाद पर लगा मूल्य टैग उनके लिए अधिक महत्वपूर्ण होता है। उन्हें पता नहीं है कि ऐसा करना उपभोक्ताओं, ब्रांडों और अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक है। इस प्रकार का अवैध व्यापार अपराध और आतंकवाद को धन उपलब्‍ध कराता है। सरकार को किसी भी खरीदारी पर दुकानदार से बिल अवश्‍य लेने के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए। जितने अधिक लोग बिल लेंगे

0
Mandeep Sonu 13 मिनट 14 सेकंड पहले

Apparels, footwear, fashion accessories are top targets for fakes and smuggled. There is less stigma for youth to buy such products, as the price tag is more important to them when shopping for style. They are not aware that it is damaging to consumers, brands and economy. This illegal business funds crime and terrorism. Govt must sensitize people to take a bill on any purchase. The more people will take bill and pay taxes- there will be greater benefit to them and the nation. Responsible consum

0
Rakesh Singh 13 मिनट 32 सेकंड पहले

Apparels, footwear, fashion accessories are top targets for fakes and smuggled. There is less stigma for youth to buy such products, as the price tag is more important to them when shopping for style. They are not aware that it is damaging to consumers, brands and economy. This illegal business funds crime and terrorism. Govt must sensitize people to take a bill on any purchase. The more people will take bill and pay taxes- there will be greater benefit to them and the nation. Responsible consum

1170
Bistnu Narayana Nayak 14 मिनट 25 सेकंड पहले

#Income tax#Finance
1Reduction of corporate tax the rich & richer became richer & richest respectively. Needs to rise financial conditions of common people to reduce economical imbalance, since 1% people of India enjoying about 58% of National property
2More tax on rich & super rich & less on common people
3Tax on agricultural income above 12 lac & revenue earned for health, education, agriculture
4No free cash,may be through input subsidy,crop&life insurance,MSP & some productive activities

74350
Nellai D Muthuselvam 14 मिनट 55 सेकंड पहले

More reforms and changes are needed in departments like agriculture, employment, medicine and the judiciary. The welfare of the people and the development of the nation are all important. Many of my previous requests have been accepted. My other requests are in the following images. Among these, the central government should implement what is desirable and feasible. If you have any questions about the implementation please contact me. I am ready to explain in detail.

0
Rakesh 18 मिनट 10 सेकंड पहले

पोशाक/कपडे, जूते, फैशन एसेसरीज नकली और स्मगलिंग सामान बेचने वालों की प्राथमिकता है। ऐसे उत्पादों को खरीदना युवाओं के लिए कलंक है, क्योंकि स्टाइल के लिए खरीदारी करते समय उत्‍पाद पर लगा मूल्य टैग उनके लिए अधिक महत्वपूर्ण होता है। उन्हें पता नहीं है कि ऐसा करना उपभोक्ताओं, ब्रांडों और अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक है। इस प्रकार का अवैध व्यापार अपराध और आतंकवाद को धन उपलब्‍ध कराता है। सरकार को किसी भी खरीदारी पर दुकानदार से बिल अवश्‍य लेने के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए। जितने अधिक लोग बिल लेंगे

0
VINAY 19 मिनट 40 सेकंड पहले

पोशाक/कपडे, जूते, फैशन एसेसरीज नकली और स्मगलिंग सामान बेचने वालों की प्राथमिकता है। ऐसे उत्पादों को खरीदना युवाओं के लिए कलंक है, क्योंकि स्टाइल के लिए खरीदारी करते समय उत्‍पाद पर लगा मूल्य टैग उनके लिए अधिक महत्वपूर्ण होता है। उन्हें पता नहीं है कि ऐसा करना उपभोक्ताओं, ब्रांडों और अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक है। इस प्रकार का अवैध व्यापार अपराध और आतंकवाद को धन उपलब्‍ध कराता है। सरकार को किसी भी खरीदारी पर दुकानदार से बिल अवश्‍य लेने के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए। जितने अधिक लोग बिल लेंगे