MyGov आइडिया बॉक्स

Last Date Mar 31,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

खुली चर्चा का एक ऐसा मंच जहाँ आप शासन और नीति-निर्माण के किसी भी विषय ...

खुली चर्चा का एक ऐसा मंच जहाँ आप शासन और नीति-निर्माण के किसी भी विषय पर अपने बहुमूल्य विचारों और सुझावों को साझा कर सकते हैं। ऐसे विचार जिनसे 2022 तक एक नए भारत के निर्माण में मदद मिले। (यह मंच उन मुद्दों और विषयों के लिए है जिनसे संबंधित MyGov पर कोई अन्य चर्चा नहीं चल रहा हो और यह नागरिकों के दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण हो।)

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
0
Isha Kubal 11 सेकंड पहले

Subject: Graphology has to be studied to prevent issues similar to lying disorder and other problems being given by way of handwriting

Dear Madam/ Sir

I read that the letter 'O' taught in LKG gives issues similar to lying disorder. Similarly other letters of every language has to be checked. Changing handwriting changes a person. Research is required on this subject.

Kindly do the needful as soon as possible.

Thank you.

0
Firoz Alam 1 min 14 सेकंड पहले

20% road accidents and out of them 50% of the total ones are caused by fake auto parts. Counterfeit and smuggled auto parts may be cheaper but cost more in the long run –parts don’t last long, lead to mechanical problems, cause pollution and safety hazard. Govt should make it mandatory to give and take a bill on every purchase. This ensures that the product is genuine and tax paid. Tax revenues will be used for benefit of citizens

0
Firoz Alam 1 min 30 सेकंड पहले

Apparels, footwear, fashion accessories are top targets for fakes and smuggled. There is less stigma for youth to buy such products, as the price tag is more important to them when shopping for style. They are not aware that it is damaging to consumers, brands and economy. This illegal business funds crime and terrorism. Govt must sensitize people to take a bill on any purchase. The more people will take bill and pay taxes- there will be greater benefit to them and the nation

300
Yogendra Kumar Kabra 2 मिनट 39 सेकंड पहले

Finance minister in the upcoming budget should re-introduce standard deduction for salaried class. The amount of deduction should be maximum of Rs 2 lakhs or 1/3 of Gross Salary. This will enable more cash in the hand of larger middle class which will give push to consumption and thereby having positive impact on the economy. This will have direct impact on salaried class and tax loss to government will be lower than increase the basic exemption limits and/or lowering personal tax exemption.

0
RAVI 5 मिनट 30 सेकंड पहले

Apparels, footwear, fashion accessories are top targets for fakes and smuggled. There is less stigma for youth to buy such products, as the price tag is more important to them when shopping for style. They are not aware that it is damaging to consumers, brands and economy. This illegal business funds crime and terrorism. Govt must sensitize people to take a bill on any purchase. The more people will take bill and pay taxes- there will be greater benefit to them and the nation. Responsible consum

600
Gaurav Singhal 5 मिनट 56 सेकंड पहले

फरवरी 2018 में ये 400 मीटर का पार्क सिर्फ एक प्लाट या कूड़ाघर था जिसको साफ करके मैने उसमें पेड़ पौधे लगाने शुरू किए और अब ये एक विकसित पार्क है। पिछले 20 साल में 4 सरकार आयी और गयी पर जनता के हित मे किसी ने भी कोई कार्य नही किया। जनता का हित स्वयं कार्य करने से होगा ये बात मुझे समझ आयी और मैंने ये कार्य किया और कूड़ाघर को पार्क में बदल दिया। अपने जीवन मे अगर सब अपने घर के पास एक एक पौधा लगाए तो ग़ाज़ियाबाद में प्रदूषण के दबाव को कम किया जा सकता है।

0
RAVI 6 मिनट 4 सेकंड पहले

20% road accidents and out of them 50% of the total ones are caused by fake auto parts. Counterfeit and smuggled auto parts may be cheaper but cost more in the long run –parts don’t last long, lead to mechanical problems, cause pollution and safety hazard. Govt should make it mandatory to give and take a bill on every purchase. This ensures that the product is genuine and tax paid. Tax revenues will be used for benefit of citizens. As responsible consumer you are a part our nation’s progress.

600
Gaurav Singhal 7 मिनट 58 सेकंड पहले

फरवरी 2018 में ये 400 मीटर का पार्क सिर्फ एक प्लाट या कूड़ाघर था जिसको साफ करके मैने उसमें पेड़ पौधे लगाने शुरू किए और अब ये एक विकसित पार्क है। पिछले 20 साल में 4 सरकार आयी और गयी पर जनता के हित मे किसी ने भी कोई कार्य नही किया। जनता का हित स्वयं कार्य करने से होगा ये बात मुझे समझ आयी और मैंने ये कार्य किया और कूड़ाघर को पार्क में बदल दिया। अपने जीवन मे अगर सब अपने घर के पास एक एक पौधा लगाए तो ग़ाज़ियाबाद में प्रदूषण के दबाव को कम किया जा सकता है।

600
Gaurav Singhal 8 मिनट 47 सेकंड पहले

फरवरी 2018 में ये 400 मीटर का पार्क सिर्फ एक प्लाट या कूड़ाघर था जिसको साफ करके मैने उसमें पेड़ पौधे लगाने शुरू किए और अब ये एक विकसित पार्क है। पिछले 20 साल में 4 सरकार आयी और गयी पर जनता के हित मे किसी ने भी कोई कार्य नही किया। जनता का हित स्वयं कार्य करने से होगा ये बात मुझे समझ आयी और मैंने ये कार्य किया और कूड़ाघर को पार्क में बदल दिया। अपने जीवन मे अगर सब अपने घर के पास एक एक पौधा लगाए तो ग़ाज़ियाबाद में प्रदूषण के दबाव को कम किया जा सकता है।