Gandhi@150 के अवसर पर समारोह

Last Date Jan 30,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से ...

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से दुनिया बदली जा सकती है। उनकी 150 वीं जयंती के साथ एक नई शुरुआत की जा रही है। वे अपने पीछे नैतिकता, आत्मसम्मान, क्षमा, अहिंसा और सत्याग्रह आदि की विरासत छोड़ गए हैं। अब दुनिया तेजी से विकसित हो रही है और सभी के सतत और समावेशी विकास के लिए कुछ पहलूओं पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।

गांधी स्मृति और दर्शन समिति इस डिजिटल मंच पर आपको खुली चर्चा के लिए आमंत्रित करती है जहां आप अपने बहुमूल्य विचारों को साझा कर सकते हैं।

इन विचारों को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती समारोह के लिए समर्पित विभिन्न कार्यक्रमों के संचालन में समिति द्वारा उपयोग किया जा सकता है।

भेजने की अंतिम तिथि जनवरी 30, 2020 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
3010 सबमिशन दिखा रहा है
1790
Paresh mukeshbhai vaghela 3 घंटे 40 मिनट पहले

mahatma gandhi belive in trth and non viollance
this is the best way to go on , every one should follw the path of mahatma gandhi , in the next generation in our country new rules of traffic is not like by the cityzens , the policy of memo and hard charges is disturbing the mind of people , i just wanto give my openion that if the govt should accept the path of mahatma gandhi then no one have problem , on behalf of charing mony they should buy them helmat and lern them the benifits of wering .

0
Swaradeep Bonik 18 घंटे 26 मिनट पहले

Gandiji wanted Indians to be self sustained so I feel that now the time has come that our schools should become the cradle of new India
our schools should collect plastic waste from students with school fee and also used notebooks and papers so that they can be recycled also schools should make arrangements of preparing vermicompost from organic waste so that students also learn good habits and the way for a clean and green India is paved.

1210
Ankit 21 घंटे 14 मिनट पहले

प्रधानमंत्री जी
गांधी जी की 150 जन्म शताब्दी पर अब सभी को शिक्षित करने के लिए एक उपाय यह है कि टेलीविजन पर एक चैनेल ऐसा आये जिसमे हिंदी , अंग्रेजी , इत्यादि की शिक्षा दी जाए जिससे सभी को कुछ शिखने को मिलेगा और सभी शिक्षित भी हो जायेंगे।