Gandhi@150 के अवसर पर समारोह

Last Date Jan 30,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से ...

जिस महान व्यक्तित्व ने पूरी दुनिया को बताया कि सौम्यता व विनम्रता से दुनिया बदली जा सकती है। उनकी 150 वीं जयंती के साथ एक नई शुरुआत की जा रही है। वे अपने पीछे नैतिकता, आत्मसम्मान, क्षमा, अहिंसा और सत्याग्रह आदि की विरासत छोड़ गए हैं। अब दुनिया तेजी से विकसित हो रही है और सभी के सतत और समावेशी विकास के लिए कुछ पहलूओं पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।

गांधी स्मृति और दर्शन समिति इस डिजिटल मंच पर आपको खुली चर्चा के लिए आमंत्रित करती है जहां आप अपने बहुमूल्य विचारों को साझा कर सकते हैं।

इन विचारों को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती समारोह के लिए समर्पित विभिन्न कार्यक्रमों के संचालन में समिति द्वारा उपयोग किया जा सकता है।

भेजने की अंतिम तिथि जनवरी 30, 2020 है।

See Details Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
2978 सबमिशन दिखा रहा है
200
Raj Jangam 14 घंटे 6 मिनट पहले

Gandhi@150 We need to increase use of our national language as Bapu said that ' हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है । 'In every State Education must include Regional Language , National Language & International Language Because , I experienced that can't even no the common words in National Languages. So, If we are able to this in next 5 Years I confident that All States are United with Hindi Language This Unity is one of good celebrations of the Bapu. That's all.

420
Kumar Prakhar 1 day 2 घंटे पहले

He has left the legacy of teachings of morality and non-violence but in today's multipolar world where every country is out for itself and ideologies do not matter India needs realism rather than optimism. We can't keep remembering the glories' of the past and forget to live in the present. Real Gandhism is not avoiding conflict, but facing conflict head-on and staying true to yourself.

690
TANISH CHOPRA 2 days 21 मिनट पहले

Girls are equally as important as boys in society to maintain social equilibrium. A few years ago, there was a huge reduction in the number of women in comparison to the man. It was so because of the increasing crimes against women such as female foeticide, dowry deaths, rape, poverty, illiteracy, gender discrimination and many more. To equalize the number of women in the society, it is very necessary to aware people greatly about the save girl child.