पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ गंगा की सफाई को सुनिश्चित करना

Ensure greater tourism as well as cleaner Ganga
Last Date Sep 30,2015 00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

यह कैसे सुनिश्चित किया जाए कि पर्यटकों की संख्या में वृद्धि करने के ...

यह कैसे सुनिश्चित किया जाए कि पर्यटकों की संख्या में वृद्धि करने के साथ-साथ गंगा को भी स्वच्छ रखा जा सके?

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
8367 सबमिशन दिखा रहा है
4210
dinesh pandey 4 साल 2 महीने पहले

गंगा मैया को अपने पुरूखों का उद्धार करने हेतु भागीरथ सविनय पृथ्वी पर लाए थे। बृह्मा के कमंडल से जब निकलीं तो उनका प्रबल वेग झेलने के लिये अपनी जटाएं खोली थी।
ऐसी पतित पावनी गंगा प्रत्येक भारतवासी की आराध्य गंगा मैया है।
हम हमारी गंगा मैया को मैली नहीं होने देंगे। आओ हम सब मिलकर संकल्प करें।
जय हो गंगा मैया।

6880
varun goyal 4 साल 2 महीने पहले

Don't go in mass, take 10/20 places per state in 1 year then :
1) Start Work of cleaning by Govt first, then public will himself keep it clean .. EXAMPLE : DELHI METRO..
2) Ensure low cost toilet & Dustbin @ every crowed place/ bus stop/mkt./ @ every 1 km
3)Maintain all necessary things @ there in good manner to attract visitor.( Better Transport/ Road/ Hotels/Resaurant/ Park etc.(use PPP model)
4) Then Promote them meaningfully.
5) Good place don't need much publicity, it attract himself

4620
Sanjay Seth 4 साल 2 महीने पहले

देश के ईमानदार प्रधानमंञीजी राजस्‍थान राज्‍य के जनजाति बाहुल्‍य जिले बांसवाडा की राजनिति में कांग्रेस पार्टी में पिछले 20 वर्षो से एकछञ शासन करते हुये पहले 5 वर्ष तक पंचायत समिति प्रधान फिर 15 वर्ष तक जिला प्रमुख उसके बाद राजस्‍थान सरकार में केबिनेट मंञी ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज एवं जनजाति विभाग एवं उनकी पत्‍नी 5 वर्ष से जिला प्रमुख अब कांग्रेस के एमएलए रहते हुये करोडो अरबो रूपये कमाकर कई बेशकीमती जमीने खरीद रखी है अत गुप्‍तचर एजेन्‍सीयो से इनकी काली कमाई की जानकारी लेकर उसे राजकोष में जमा

4620
Sanjay Seth 4 साल 2 महीने पहले

देश में यदि भ्रष्‍टाचार मिटाना हो तो वर्तमान में सरकारी कार्यालयो में चल रहे ढररे को सुधारना होगा क्‍योकि वर्तमान में समस्‍त सरकारी कार्यालय जहां विकास से सम्‍बन्धित कार्य होते हैं वहां गुणवत्‍ता से समझौता किया जाकर लगभग 80 प्रतिशत सरकारी कार्यालयो में उपर से लगाकर निचे तक एक चैन के रूप में रिश्‍वत राशि का बंटवारा होता हैं जिससे अधिकारी, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि, जॉचकर्ता अधिकारी, निरीक्षणकर्ता अधिकारी, ऑडिट दल, पञकार मिलबांटकर घर भर रहे हैं यदि इसे खत्‍म कर दिया तो आधी बीमारीतोवैसेहीसाफहोजावेगी

700
VISHAL BANSAL 4 साल 2 महीने पहले

modi g should make effort on issues of how to dispose off the hindu religious material or goods which are poured in always flowing water...so facing hardship in clean water issue..make some ideas of disposing of that waste and doesnot hurt relgious sentiments

200
Chiman Patel 4 साल 2 महीने पहले

We have to get down to the basics. That is swatch Bharat , report says we have failed. Failing is that of the nation. We need educating, cleanliness is not just in the house it goes beyond. Let us make a start by having a weekly get together of street members and then the whole village , town and city. It is in our hands and not the leaders who want us to be progressive.